योगी सरकार 25 हजार करोड़ में बनाएगी देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस वे

317
SHARE

योगी सरकार लखनऊ से गाजीपुर तक देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस वे बनाने जा रही है। इसकी लागत करीब 25 हजार करोड़ रुपए होगी, अगले 3 साल में बनाने की बात कही जा रही है।

लखनऊ से गाजीपुर के बीच 353 किमी के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का प्रस्ताव अखिलेश यादव ने ही दिया था। इसकी लागत 24,627 करोड़ (70 करोड़ रु प्रति किमी) आंकी जा रही है। वहीं, 302 किमी लंबे लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे की लागत 14 हजार 397 करोड़ (50 करोड़ रु प्रति किमी) थी।

इकनॉम‍िक टाइम्स की खबर के मुताबिक, यूपी सरकार के एक बड़े अफसर ने बताया, ”जमीन अधिग्रहण की ऊंची लागत हमारे लिए एक बड़ा फैक्टर है। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे के लिए तकरीबन 2,900 करोड़ रुपए खर्च किए गए, लेकिन नए एक्सप्रेस वे के जमीन अधिग्रहण के लिए करीब 7 हजार करोड़ रुपए खर्च करने की जरूरत होगी।’ यूपी में उपजाऊ जमीन है और सरकार का इरादा किसानों को उनकी जमीन की अच्छी कीमत देने का है। यही वजह है कि इसकी कीमत ज्यादा है।”

राज्य सरकार ने बताया कि पब्ल‍िक-प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) भागीदारी के जरिए सड़क के अगल-बगल की फैसिलिटीज को प्राइवेट पार्टियों को आउटसोर्स कर वह कुछ पैसा बचा लेगी। साथ ही वाई-फाई सेवाओं के लिए एक्सप्रेस वे के साथ टेलीकॉम कंपनियों को ऑप्टिकल फाइबर बिछाने को कहा जाएगा।

एक अफसर के मुताबिक, ”एक्सप्रेस-वे की कीमत करीब 25 हजार करोड़ होगी। सरकार ने लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे में किसी तरह की बड़ी गड़बड़ी नहीं पाई है। सरकार ने एक्सप्रेस वे के सभी 5 सेक्शन से सैम्पल लिए और उन्हें संतोषजनक पाया है।”

नए एक्सप्रेस वे में अयोध्या तक 17 किमी का लिंक रोड होगा और वाराणसी में 12 किमी की ऐसी ही सड़क होगी। 6 लेन वाला ये एक्सप्रेस वे मौजूदा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से जुड़ेगा, जो पहले ही नोएडा-आगरा (यमुना) एक्सप्रेस वे से जुड़ा हुआ है।