योगी ने कहा यश भारती अवॉर्ड की जांच हो, अनावश्यक सम्मान‍ित करने से पुरस्कार की गरिमा गिरती है

5
SHARE

योगी आदित्यनाथ ने मुलायम स‍िंह के दुवारा शुरू किये गए अवार्ड यश भारती की जांच कराने का फैसला क‍िया है, यश भारती अवार्ड यूपी का सबसे बड़ा अवार्ड है,

योगी ने कहा क‍ि ये अवार्ड किन आधारों और मापदंडों पर दिए गए, इसकी समीक्षा की जाना चाह‍िए। उन्होंने कहा कि पुरस्कारों के वितरण के दौरान उसकी गरिमा का भी ध्यान रखा जाना चाह‍िए। अपात्रों को अनावश्यक सम्मान‍ित करने से पुरस्कार की गरिमा गिरती है।

मुलायम सिंह ने यश भारती को 1994 में शुरू किया था, यूपी से ताल्लुक रखने वाले ऐसे लोगों जिन्होंने कला, संस्कृति, साहित्य या खेलकूद की फील्ड में देश के लिए नाम कमाया दिया जाता है, इस अवार्ड में 11 लाख रुपए के अलावा ताउम्र 50 हजार रुपए की पेंशन भी मिलती है।