योगी ने दिया यूपी 100 के 511 भ्रष्टाचारी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई का आदेश

325
SHARE

प्रदेश स्तर पर यूपी-100 की स्थापना की गई, पर यह योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है, बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग में यूपी-100 पर योगी ने इसके भ्रष्टाचारी अफसरों को बर्खास्त करने से लेकर जेल भेजने तक की हिदायत दे दी।

यूपी-100 पर पूरी तैयारी से गए डीजीपी सुलखान सिंह ने तत्काल 511 पुलिसकर्मियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का ब्यौरा गिना दिया। यूपी-100 की सेवा के दौरान एक जनवरी 2017 से 31 जुलाई 2017 तक चार उप निरीक्षक, 90 मुख्य आरक्षी और 158 आरक्षी निलंबित किए गए हैं।

एक मुख्य आरक्षी और एक आरक्षी को बर्खास्त किया गया जबकि चार उपनिरीक्षक, 82 मुख्य आरक्षी और 154 आरक्षी को लघु दंड तथा एक उपनिरीक्षक, चार मुख्य आरक्षी और पांच आरक्षी को दीर्घ दंड दिया गया है। एक मुख्य आरक्षी और छह आरक्षी को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा गया।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानून-व्यवस्‍था पर डीएम और एसएसपी की जमकर क्लास ली, उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जो रिजल्ट नहीं दे पाएंगे, वे अब नहीं रह पाएंगे। सरकार बने हुए चार महीने बीत चुके हैं। जो अधिकारी रिजल्ट नहीं दे सकते हैं, वे वापस आ जाएं।

योगी बुधवार को एनेक्सी में वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक व उप महानिरीक्षकों से मुखातिब थे।

योगी ने कहा कि उन्होंने सरकार संभालते ही कानून-व्यवस्था में सुधार तथा विकास कार्यों में तेजी के संबंध में अपनी मंशा बता दी थी। इसके बावजूद निचले स्तर के अधिकारियों व कर्मचारियों की इस ओर अकर्मण्यता स्वीकार्य नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास तथा कानून-व्यवस्था से संबंधित समस्याओं का निपटारा जिला स्तर पर प्रभावी ढंग से किया जाए ताकि लोगों को लखनऊ की दौड़ न लगानी पड़े। काम में लापरवाही और जनता के हितों की अनदेखी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

बैठक में मुख्यमंत्री ने हरदोई में शौचालयों के निर्माण के बारे में वहां के डीएम से जानकारी मांगी। डीएम सही जानकारी नहीं दे सके। इस पर मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई और पूर्व मुख्य विकास अधिकारी द्वारा गलत सूचना दिए जाने के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश भेजने का निर्देश दिया।

फैजाबाद में मृत्यु प्रमाणपत्र देने में लापरवाही की शिकायत पर वहां के डीएम संतोष कुमार राय से जवाब तलब हुआ। योगी ने अंबेडकरनगर के डीएम अखिलेश सिंह को फर्जी रिपोर्ट भेजने के मामले में आड़े हाथ लिया।