योगी सरकार खेल विभाग को देगी बढ़ावा, श्रमिकों के बच्चों को खेल कालेज सहित कई निर्देश

99
SHARE

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर श्रमिकों के बच्चों के लिये कानपुर एवं वाराणसी में खेल कालेज खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के कहा युवाओं को शारीरिक शिक्षा के साथ-साथ योग शिक्षा से भी जोड़ा जाए, प्रदेश में छह वर्ष से 18 वर्ष आयु के सभी बालक-बालिकाओं को उनकी रुचि के अनुसार किसी न किसी खेल से जोडऩे हेतु विद्यालयों में खेल कक्षाओं को बढ़ाया जाए। लखनऊ में सरकारी एवं निजी भागीदारी से आधुनिक सुविधाओं से लैस स्पोट्र्स विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु भी कार्य योजना यथाशीघ्र तैयार की जाए।

शास्त्री भवन में खेल विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान मुख्यमंत्री ने जूनियर फुटबॉल विश्वकप-2017 को देखते हुए 32 जनपदों में इस खेल को बढ़ावा देने हेतु कार्य योजना बनाने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओलंपिक, विश्व चैंपियनशिप, एशियन खेलों व कॉमनवेल्थ में उत्तर प्रदेश के पदक विजेता मूल निवासियों को चिन्हित 11 विभागों में राजपत्रित पदों पर सीधी भर्ती के माध्यम से नियुक्ति प्रदान करने संबंधी आवेदनों का प्राथमिकता से निस्तारण कराया जाए। खेल कोटे से विभिन्न विभागों में तैनात होने वाले अधिकारियों को कोच के रूप में भी आवश्यकतानुसार निर्धारित अवधि के लिए तैनात किया जाए।

मुख्यमंत्री ने गौतमबुद्ध नगर में कुश्ती, वेटलिफ्टिंग हॉल, कबड्डी, वॉलीबॉल, बास्केटबॉल एवं बॉक्सिंग खेलों से जुड़े निर्माण कार्य अक्टूबर, 2017 तक पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने फैजाबाद में निर्मित अंतरराष्ट्रीय क्रीड़ा संकुल का निर्माण मार्च 2018, मिनी स्टेडियम विजयंत खंड गोमतीनगर लखनऊ में एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान का निर्माण जून 2017, वीर बहादुर सिंह स्पोट्र्स कॉलेज गोरखपुर में एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान व कुश्ती हाल का निर्माण जुलाई, 2017 तक पूर्ण कराने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण बच्चों को खेलों में प्रति प्रोत्साहित करने हेतु कबड्डी, कुश्ती, वॉलीबाल, फुटबाल सहित अन्य खेलों में प्रशिक्षण दिलाए जाने के साथ-साथ ब्लॉक स्तर पर खेल प्रतियोगिताएं आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने सैफई स्पोट्र्स कॉलेज का नाम मेजर ध्यानचंद स्पोट्र्स कॉलेज किए जाने का भी निर्देश दिया।