महिलाओं का नौकरी करना इस्लाम के खिलाफ, देवबंद के मौलाना नदीम उल वाजदी

10
SHARE

मुस्लिम महिलाओ को लेकर आज कल काफी बयान आ रहे है, जहा एक तरफ तीन तलाक पर बहस चल रही है वही दूसरी तरफ एक बयान नदीम उल वाजदी की और से भी आया है

देवबंद के मौलाना व तंजीम उलेमा-ए-हिंद के प्रदेश अध्यक्ष नदीम उल वाजदी ने कहा कि महिलाओं को सरकारी या गैर सरकारी, किसी भी तरह की नौकरी नहीं करनी चाहिए। वाजदी के मुताबिक महिलाओं का नौकरी करना इस्लाम के खिलाफ है। घर का खर्चा उठाने की जिम्मेदारी मर्द की होती है, जबकि महिलाओं का काम घर और बच्चों की देखभाल करना है। महिलाओं का नौकरी करना उसी सूरत में जायज है जब घर का खर्च उठाने वाला कोई मर्द न हो। वह चेहरे सहित खुद को ढक कर काम करे।