दर्दनाक: बाँदा जिले में दबंगो में महिला को जिन्दा जलाया, जेल से निकलते ही दिया घटना को अंजाम

102
SHARE

जिले में एक बार फिर दबंगों ने दहशतनाक वारदात को अंजाम दिया है। गांव के दबंगों ने जेल से छूटते ही दर्दनाक बदला लेते हुए वादी के परिवार पर हमला बोल दिया और बेटे को सामने न लाने पर 48 साल की मां को ही डीजल डालकर ज़िंदा जलाकर हत्या कर दी। इसके पूर्व भी ये दबंग मृतका के बेटे के अपहरण में शामिल रहे हैं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए तो भेज दिया लेकिन अभी तक पीड़ित परिवार की तहरीर पर दबंग हत्यारों के खिलाफ कार्यवाही तो दूर मुकदमा तक दर्ज नहीं किया है।

दबंगई की ये सनसनीखेज़ वारदात हुयी है बांदा के मरका थाना क्षेत्र के गांव औगासी में जहां देर शाम गांव के दबंगों ने महिला को ज़िंदा जला दिया और फरार हो गए। आपको बता दें कि औगासी निवासी अमर सिंह के घर कल देर शाम गांव के ही दबंग सगे भाई अजय, विजय और विक्रम असलहा लेकर आ धमके। दबंगो को देख अपनी जान बचाने को अमर सिंह के पुत्र जितेंद्र और बहु ने खुद को घर के कमरे में बंद कर लिया । जितेंद्र को न पाकर दबंगो ने घर की आंगन में बैठी अमर सिंह की पत्नी गुलबदन देवी को पकड़ लिया और उससे जितेंद्र को बाहर निकालने को कहा।
गुलबदन ने बेटे को उन्हें सौंपने से इंकार कर दिया बस इसी बात पर दबंगो ने आँगन में रखे डीज़ल उस पर छिड़ककर उसे ज़िंदा जला दिया और मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जल चुके शव को पोस्ट-मार्टम के लिए भेज दिया लेकिन पीड़ित अमर सिंह की तहरीर देने के बाद भी नामजद हत्यारो के खिलाफ अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस दबंगो को पूरी तरह संरक्षण देती है और दबंगो का पूरे क्षेत्र में आतंक है और दबंग इसके पूर्व भी कई जघन्य वारदाते कर चुके हैं ।
आपको बता दें कि दो साल पहले भी इन्ही दबंग हत्यारों ने मृतका के बेटे बऊआ का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी थी और उसी मामले में ये जेल में थे । 15 दिन पहले ही हत्यारोपी ज़मानत पर जेल से बाहर आये हैं और इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया है। वहीँ पुलिस इस मामले में अब भी लीपापोती में जुट गयी है । घटना के बाद मृतका के पति अमरसिंह ने हत्यारो के खिलाफ नामजद तहरीर दी है लेकिन पुलिस ने अब तक आरोपियों को गिरफ्तार करना तो दूर उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज नहीं किया है। इस संबंध में सीओ बबेरू का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और जांच के बाद ही कोई कार्यवाही की जायेगी ।