बिहार में कुर्सी से बांधकर महिला इंजीनियर को जिंदा जलाया, मां ने चप्पल से पहचाना

13
SHARE
बिहार के मुजफ्फरपुर में एक महिला इंजीनियर को कुर्सी से बांधकर जिंदा जलाने का मामला सामने आया है। मौके से एक जोड़ी चप्पल और हड्डियां मिली हैं। महिला की मां ने उसकी चप्पल से बॉडी की शिनाख्त की। मौके से एक सुसाइड नोट मिला है, लेकिन पुलिस इसे हत्या का मामला मान रही है। महिला की मां ने कुछ कलीग्स पर शक जताया है। पुलिस मकान मालिक से भी पूछताछ कर रही है।
– महिला इंजीनियर का नाम सरिता देवी है। मौके पर जो नोट मिला है, उसमें मृतका ने अपनी मां से बच्चों का ख्याल रखने की बात कही है।
– घटना रविवार देर रात अहियापुर थाना क्षेत्र के कोल्हुआ बजरंग विहार कॉलोनी की है।
– सोमवार सुबह मोहल्ले वालों की सूचना पर इंस्पेक्टर विश्वमोहन चौधरी मौके पर पहुंचे। महिला का शरीर बुरी तरह से जला था, सिर्फ हड्डियां ही मिलीं।
पुलिस मान रही हत्या, मां को कलीग्स पर शक
– एसएसपी विवेक कुमार ने बताया कि पहली नजर में यह मामला हत्या का दिखाई दे रहा है।
– पुलिस को शक है कि बॉडी को जलाने के लिए किसी केमिकल का भी इस्तेमाल हुआ है।
– पुलिस ने बताया कि घटनास्थल की एफएसएल टीम ने जांच की है। मौके से सुसाइड नोट भी मिला है।
– मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर छानबीन चल रही है। मकान मालिक से भी पूछताछ हो रही है।
– मृतका की मां ने कुछ कलीग्स पर शक जताया है।
– लोगों के मुताबिक, महिला अफसर आखिरी बार रविवार शाम को देखी गई थी।
अनबन के बाद पति से अलग रहती थी सरिता
– सरिता मूल रूप से सीतामढ़ी के कन्हौली फुलकाहां की रहने वाली थी। पिछले तीन साल से मुरौल डिविजन में जेई के पद पर पोस्टेड थी।
– सरिता की शादी नेपाल बॉर्डर पर कन्हौली फूलकाहां निवासी विजय सिंह नायक से हुई थी। उसके दो बेटे हैं।
– बताया जाता है कि सरिता की पति से अनबन हो गई थी। इसके बाद वह अपने छोटे बेटे के साथ अलग रहने लगी थी। पति भी इसी गांव में रहता है।
– सरिता का बड़ा बेटा दरभंगा में पॉलिटेक्नीक की पढ़ाई कर रहा था।
मकान मालिक के दूसरे मकान में करती थी ऑफिस के काम
– सरिता बजरंग विहार कॉलोनी में विजय कुमार गुप्ता के मकान में रहती थी।
– बता दें कि विजय मनरेगा की अलग-अलग योजनाओं का एस्टीमेट बनाता था।
– कॉलोनी में ही विजय का एक और निर्माणाधीन मकान है, जहां पर सरिता अक्सर ऑफिस से जुड़े काम करती थी। घटना वहीं हुई।