पाश एरिये में हास्पिटल्स के बीचोंबीच खुल रही शराब की दुकान, अधिकारी मौन

13
SHARE

सुल्तानपुर. उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर ज़िले में तैनात अधिकारियों के लिए
देश की सर्वोच्च अदालत का फैसला भी मानें नहीं रखता। हाल ही में सर्वोच्च अदालत ने शराब की दुकानों को हाइवे से 200 मीटर दूर रखने का निर्देश दिया। लेकिन यहां हाइवे तो दूर पाश ऐरिये में दो हास्पिटल्स के बीचों बीच प्रशासनिक अधिकारी शराब की दुकानें खुलवा रहे हैं। जिसको लेकर लोगों ने शिकायत किया तो अधिकारियों ने आश्वासन का झुनझुना पकड़ा दिया।
मामला कोतवाली नगर के लक्ष्मणपुर मोहल्ले का है। यहां मोहल्ले वासियों का आरोप है कि प्रशासनिक अधिकारियों की शह पर शराब की दुकान का संचालक बीचोंबीच आबादी में शराब की दुकान खोल रहा है। गौर करने वाली बात ये है कि उक्त शराब की दुकान जहां खोली जा रही है कई वर्षों से उसके दोनों ओर हास्पिटल संचालित है। ऐसे में शराब पीकर उन्माद फैलाने वाले लोगों से जहां मोहल्ले वासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा वहीं हास्पिटल में आए हुए मरीजों को भी यातनाए उठानी पड़ सकती है।
बता दें कि यहां शराब की दुकान खुलने से मोहल्ले वासी इसलिए भी हैरान कि लक्ष्मण पुर इलाका पयागीपुर मोहल्ले से सटा हुआ है। दोनों इलाकों के अधिकाँश तर हुड़दंगाई अकसर मोहल्ले व आसपास में हुड़दंग मचाकर बवाल कटकर सुर्ख़ियों में रहते हैं। इसको लेकर मोहल्ले वासी चिंतित हैं।
इसी आशय से दो दर्जन से भी अधिक मोहल्ले के लोगों ने लिखित प्राथना पत्र लिखकर डीएम को दिया था। लेकिन उन्हें सिर्फ आश्वासन ही मिला। जबकि मोहल्ले के लोगों ने उच्चाधिकारियों को भी इस आशय से संबंधित पत्र भेजा है। इसके बावजूद उन्हें अब तक लाभ नहीं मिल सका।