राज्य सभा में सपा के नेता को लेकर फिर बंट गया समाजवादी परिवार, कौन होगा रामगोपाल यादव का रिप्लेसमेंट

41
SHARE

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी से प्रो. रामगोपाल यादव को निकाले जाने के बाद अब एसपी के भीतर इस बात की चर्चा हो रही है कि 16 नवंबर से शुरू हो रहे संसदीय सत्र से पहले राज्यसभा में एसपी का नेता कौन होगा?

RAMGOPAL

कई सालों से रामगोपाल ही थे राज्यसभा में SP के नेता

सूत्रों के मुताबिक जो नाम उभरकर सामने आए हैं उनमें वरिष्ठ एसपी नेता कुंवर रेवतीरमण सिंह और नरेश अग्रवाल के नाम शामिल हैं. समाजवादी पार्टी के एक पूर्व सांसद ने बताया कि पिछले कई सालों से राज्यसभा में एसपी के नेता प्रो.रामगोपाल ही थे, लेकिन अब उनके निकाले जाने के बाद नए नामों पर मंथन शुरू हो गया है. रामगोपाल के अलावा राज्यसभा में एसपी के जो बड़े नाम हैं, उनमें कुंवर रेवती रमण सिंह, नरेश अग्रवाल व बेनी प्रसाद वर्मा के नाम शामिल हैं.

चर्चा में हैं अमर सिंह भी

एक सांसद ने कहा, “इन तीनों के अलावा अमर सिंह भी चर्चा में हैं. हालांकि मुलायम का अमर प्रेम जगजाहिर है, लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पिछले दिनों जिस अंदाज में उनका विरोध किया, उससे उनके राज्यसभा में नेता बनने की संभावना काफी कम है.”

उन्होंने कहा, “बेनी के राज्यसभा में एसपी के नेता बनने की संभावना काफी कम है. इसमें संदेह नहीं है कि बेनी बहुत बड़े नेता हैं, लेकिन उनके बड़बोलेपन की वजह से उन्हें राज्यसभा में नेता की कुर्सी मिलने में मुश्किलें हो सकती हैं. मुलायम सिंह रेवती रमण सिंह पर दांव लगा सकते हैं. रेवती रमण उनके करीबी और विश्वस्त लोगों में शामिल हैं. रेवती रमण के अलावा एसपी नरेश अग्रवाल पर भी दांव लगा सकती है.”

पश्चिमी यूपी के कुछ सांसद भी हैं प्रयासरत

आपको बता दें कि लोकसभा और राज्यसभा का शीतकालीन सत्र 16 नवंबर से शुरू होकर 13 दिसंबर तक चलेगा. इससे पहले एसपी को राज्यसभा में अपना नेता चुनना होगा. इसलिए राज्यसभा में एसपी के नेता बनने के लिए मुलायम के दरबार में सांसदों की पैरवी शुरू हो गई है. एसपी सूत्रों के अनुसार, बेनी प्रसाद वर्मा भी राज्यसभा में एसपी के नेता बनने के लिए पूरी ताकत लगाए हुए हैं. इनके अलावा पश्चिमी यूपी के कुछ सांसद भी प्रयासरत हैं.

Ram Gopal_Amar Singh

रामगोपाल के रिप्लेसमेंट को लेकर बंटा यादव कुनबा

राज्यसभा में समाजवादी पार्टी के नये नेता की नियुक्ति के मुद्दे पर गुटबाजी का शिकार यादव कुनबा एक बार फिर बंटता दिख रहा है. समाजवादी पार्टी ने रामगोपाल यादव को पार्टी से निकाल दिया है जो राज्यसभा में पार्टी के नेता थे. पार्टी सूत्रों ने बताया कि एसपी सुप्रिमो मुलायम सिंह यादव राज्यसभा में पार्टी के नये नेता के रूप में बेनी प्रसाद वर्मा का पक्ष ले रहे हैं जबकि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नरेश अग्रवाल के पक्ष में हैं.

राज्यसभा में रेवती रमण एसपी के वरिष्ठतम प्रतिनिधि है लेकिन उनके गिरते स्वास्थ्य के कारण मुलायम द्वारा वर्मा के नाम पर विचार करने की खबर है. बेनी प्रसाद वर्मा ने एसपी सुप्रीमो के साथ मतभेदों के चलते एक दशक पहले पार्टी छोड़ दी थी. वर्मा इस वर्ष के प्रारंभ में एसपी में लौट आए थे और उन्हें राज्यसभा भेजा गया था.

नरेश अग्रवाल के पक्ष में हैं अखिलेश यादव

सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नरेश अग्रवाल के पक्ष में हैं जो एक प्रखर वक्ता है जहां उन्हें रामगोपाल यादव के बाद नबंर दो के रूप में देखा जाता रहा था. अमर सिंह को हाल में मुलायम सिंह ने राज्यसभा भेजा. अमर सिंह, नरेश अग्रवाल के साथ सहज नहीं हैं क्योंकि उनकी रामगोपाल के साथ निकटता है. अग्रवाल, अखिलेश यादव को अगले चुनाव में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने के पक्ष में रहे हैं.