उपेंद्र कुशवाहा उजियारपुर और काराकाट दोनों जीत गए तो कौन सी सीट पर बनें रहेंगे

17
SHARE

बिहार में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा दो लोकसभा सीटों उजियारपुर और काराकाट से चुनाव लड़ रहे हैं। काराकाट से वह निवर्तमान सांसद हैं। कुशवाहा का दावा है कि वह दोनों लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करेंगे। उनसे सवाल पूछा गया कि वह दोनों सीट जीत गए तो कौन सी सीट पर बने रहेंगे और कौन सी सीट छोड़ेंगे तो उन्होंने काफी दिलचस्प जवाब दिया और साथ ही अपने समर्थकों के लिए एक चैलेंज भी दिया।

उपेंद्र कुशवाहा के खिलाफ उजियारपुर से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय उम्मीदवार हैं तो काराकाट सीट से जेडीयू के उम्मीदवार महाबली सिंह मैदान में हैं। उपेंद्र कुशवाहा का दावा है कि वह उजियारपुर में भाजपा को और काराकाट में जेडीयू को हराएंगे लेकिन अपने पास सीट वह रखेंगे जहां की जनता उन्हें ज्यादा वोटों से जिताएगी।

काराकाट लोकसभा सीट से उपेंद्र कुशवाहा 2014 का चुनाव लगभग एक लाख वोटों से जीते थे, तब उनके खिलाफ आरजेडी की कांति सिंह मैदान में थीं। अब कुशवाहा महागठबंधन से उम्मीदवार हैं और एनडीए के खिलाफ लड़ रहे हैं, ऐसे में उनके वोटरों में काफी बदलाव हो चुका है।

उजियारपुर में चौथे चरण में 29 अप्रैल को और काराकाट में आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होना है। देखना होगा कि कुशवाहा को इन सीटों पर जनता का कितना आशीर्वाद मिलता है।