अब फिल्म में भी दिखेगा पीएम मोदी का भाषण!

12
SHARE

फिल्ममेकर विपुल शाह जब मंगलवार की रात टीवी पर ब्लैक मनी को खत्म करने की जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 500 और 1000 रुपए के नोट को बैन करने के अपने बोल्ड फैसले से देश को संबोधित करते हुए देख रहे थे तो उन्हें ऐसा महसूस हुआ जैसे वह इस तरह की चीज पहले भी देख चुके हैं। उनकी अगली सीक्वल फिल्म ‘फोर्स 2’ के बाद ‘कमांडो 2’ है, जो 6 जनवरी को रिलीज़ होनी है। यह फिल्म भी ब्लैक मनी के इर्द-गिर्द ही घूमती है, जिसका स्क्रिप्ट 2 साल पहले ही तैयार किया जा चुका था।  फिल्म के डायरेक्टर हैं देवेन भोजानी, जिन्होंने ‘पिंक’ राइटर रितेश शाह और विपुल के साथ मिलकर इस कहानी को लिखा भी है। देवेन ने बताया है कि कमांडो के रूप में लौट रहे हैं विद्युत जामवाल, जो काले धन के खोज के अभियान पर हैं, जो धोखे से विदेशी बैंकों से निकाल लिया गया है। देवेन ने हंसते हुए कहा, ‘कमांडो एक सिंपल फिल्म थी, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया था। जब हमने सीक्वल के बारे में सोचा तो हमारा आइडिया यही था कि फिल्म एक रहस्यमय थ्रिलर हो, जिसमें ऐक्शन के साथ-साथ बुद्धिमानी भी हो। काफी सोच-विचार के बाद रितेश ने ब्लैक मनी के मुद्दे को टच किया और इससे मैं और विपुल भी सहमत थे, क्योंकि अभी तक इसे लेकर न तो फिल्में बनीं हैं और समय के हिसाब से भी फिट था। हमें इसकी बिल्कुल जानकारी नहीं थी कि यह सही समय पर साबित होगा।’ हालांकि, देवेन ने यह भी स्वीकारा कि बाकी लोगों की तरह उनकी फैमिली भी मोदी के इस फैसले से परेशान है कि केवल 30 दिसंबर तक ही पुराने नोट बदले जाएंगे और उनके पास कोई एक्स्ट्रा कैश नहीं है।  क्या उनकी फिल्म में कोई राजनेता भी हैं। इस सवाल के जवाब में विपुल ने हामी भरी। और क्या कोई प्रधानमंत्री भी है जो बदलाव लाना चाहता है? इस बात को भी देवेन ने स्वीकार किया और सवाल का जवाब हां में दिया। तो क्या वह अपनी फिल्म में हालिया घटनाओं को शामिल करेंगे? इसपर विपुल ने कहा कि, नहीं वे ऐसा नहीं कर सकते, क्योंकि फिल्म बनकर तैयार है और विद्युत बाल भी कटवा चुके हैं। अब वह अपनी अगले प्रॉजेक्ट के लिए आगे बढ़ चुके हैं, इसलिए अब ऐसी कोई संभावना नहीं है।