यूपी में 11 फरवरी को सात चरणों में चुनाव

14
SHARE

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में इस साल चुनाव होने हैं। इन पांच राज्यों में 690 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे। 5 राज्यों में 16 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे। सभी को आईकार्ड दिए जाएंगे। 1 लाख 85 हजार पोलिंग स्टेशन होंगे. हर वोटर को रंगीन पर्ची दी जाएगी। पोलिंग बूथ के बाहर सभी जानकारियों पोस्टर पर दी जाएंगी। इस पर नियमों का उल्लेख होगा। बूथ पर वोटर्स की मदद के लिए गाइड होंगे। वोटर को फोटो वाली वोटर स्लिप मिलेगी|

मुख्य चुनाव आयुक्त ने नसीम जैदी ने कहा कि गोपनीयता बनाए रखने के लिए 30 इंच ऊंची स्टील और अन्य सामग्री से बनी छोटी केबिन का इस्तेमाल किया जाएगा। ईवीएम में उम्मीदवारों की तस्वीर होगी। दिव्यांग वोटरों के लिए अगल व्यवस्था होगी।690 में से 133 सीटें सुरक्षित हैं|

 नसीम जैदी ने जानकारी दी कि उम्मीदवारों को नॉमिनेशन पेपर पर फोटो लगाना होगा और उनको भारत का नागरिक होना चाहिए। उनको शपथ पत्र देना होगा। चुनाव प्रचार के दौरान ध्वनि प्रदूषण और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली सामग्रियों पर प्रतिबंध होगा। रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर पर रोक रहेगी।उम्मीदवारों को बताना होगा कि कोई बकाया नहीं है। बैंक में खाते खुलवाने होंगे। 20 हजार से ज्यादा खर्च करने पर चैक से पेमेंट करना होगा। यूपी, उत्तराखंड और पंजाब में उम्मीदवार 28 लाख खर्च करपाएंगे, जबकि गोवा और मणिपुर में 20 लाख खर्च करपाएंगे|
1 लाख 85 हजार पोलिंग बूध होंगे।
सबको फोटो आई कार्ड दिए जाएंगे।
हर परिवार को वोटर गाइड दिया जाएगा
16 करोड़,मतदाता वोट डालेंगे
690 विधानसभा सीटों पर होंगे चुनाव

मंगलवार को हुई बैठक में मतदाता सूची और राज्यों में कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई। चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक घोषणा से पहले सोमवार को आयोग ने अर्धसैनिक बलों के प्रमुखों के साथ भी बैठक की और सुरक्षा बलों की संख्या उनकी तैनाती और उनके एक जगह से दूसरी जगह जाने के कार्यक्रम की पूरी जानकारी ली, क्योंकि चुनाव के दौरान सुरक्षा बलों की तैनाती उनके परिवहन की पूरी कमान आयोग के ही हाथों में होती है लिहाजा हरेक जानकारी पूरी तौर पर पुख्ता कर ली गई|

 

उत्तर प्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच आज चुनाव आयोग पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान करेगा। चुनाव आयोग ने दोपहर 12 बजे के करीब प्रेस कांफ्रेंस बुलाया है। बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग इस प्रेस कांफ्रेंस में चुनाव तारीखों की घोषणा करेगा। चुनाव आयोग ने इस सिलसिले में मंगलवार को पांच राज्यों के चुनाव अधिकारियों के साथ बैठक की। इस घोषणा के साथ ही पांच राज्यों में चुनाव आचार संहिता भी प्रभाव में आ जाएगी|

उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 27 मई को पूरा हो रहा है जबकि चार राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल मार्च तक पूरा हो रहा है। उत्तर प्रदेश को छोड़कर अन्य सभी राज्यों में चुनाव एक ही दिन निपटाए जा सकते हैं, जबकि यूपी में सात चरणों में चुनाव होने की संभावना है|

आयोग ने कैबिनेट सचिव और चुनाव वाले राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर और पंजाब के मुख्य सचिवों को भेजे पत्र में पहले की तरह ही निर्देशों का एक पुलिंदा भी भेजा है, जिन्हें वे घर ले जाकर पढ़ सकें और चुनाव तारीख की घोषणा के साथ ही तत्काल प्रभाव से आचार संहिता लागू कर सकें। इसमें आयोग ने पूरी सूची तैयार की है कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं|