बदायूं में पुलिसवाले को 75 हजार की रिश्वत, जानिए योगी की पुलिस ने क्या किया

19
SHARE

योगी आदित्यनाथ के राज में यूपी पुलिस से भी अच्छी खबरें सुनने को मिल रही है. आमतौर पर यूपी पुलिस के भ्रष्टाचार की खबरें सुनने को मिलती हैं. दरअसल, उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में अपने बेटे को छुड़ाने के लिए कोतवाल को रिश्वत देने की कोशिश के आरोप में एक ठेकेदार को गिरफ्तार किया गया. पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार यादव ने बताया कि शहर के आर्य समाज चौक निवासी ठेकेदार कमलकांत शर्मा के बेटे मोना शर्मा तथा उसके साथियों का शनिवार रात बिरुआवाड़ी मंदिर के पास एक शादी समारोह के दौरान कुछ युवकों से झगड़ा हुआ था.

उन्होंने बताया कि दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई थी. इसी दौरान मोना शर्मा ने तमंचे से गोली भी चलाई. सूचना मिलने पर कोतवाल लोकेंद्र अपने दल के साथ मौके पर पहुंचे और सभी को कोतवाली लाया गया. यादव ने बताया कि बेटे को पुलिस द्वारा पकड़ने की सूचना पर कमलकांत रात में ही कोतवाली पहुंच गया और बेटे को छोड़ने के एवज में कोतवाल से लेने-देन की बात करने लगा. उसने कोतवाल की मेज पर 75 हजार रुपये गिनकर उनकी ओर बढ़ा दिए. यह घटनाक्रम पुलिस ने कैमरे में कैद कर लिया और मौके पर ही ठेकेदार को गिरफ्तार कर लिया गया.

उन्होंने बताया कि कमलकांत पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और सरकारी कार्य में बाधा डालने की धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी, जबकि उसके बेटे पर अवैध हथियार रखने के जुर्म में आर्म्स एक्ट तथा शांतिभंग समेत सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया है.