स्टूडेंट यूनियन से बात करके कांग्रेस की चुनावी स्ट्रेटेजी तैयार होगी : पीके

9
SHARE

यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जिताने के लिए नेशनल स्टूडेट्स यूनियन इंडिया (एनएसयूआई) के लिए पॉलिटिकल स्‍ट्रैटजिस्‍ट प्रशांत किशोर ने स्पेशल प्‍लान तैयार किया है। अब एनएसयूआई, स्टूडेंट्स से बात करके चुनावी स्‍ट्रैटजी के तहत काम करेगी। इसके लिए एनएसयूआई एक फॉर्मेट पर काम करेगी। इसमें वह देखेगी कि स्‍टूडेंट्स को क्या चाहिए और कांग्रेस किस तरह से उनकी उम्मीदों पर काम कर सकती है।

क्या नया है एनएसयूआई के चुनावी प्लान में?
– एनएसयूआई की नई स्‍ट्रैटजी प्रशांत किशोर के प्लान पर चल रही है।
– जिले की टीम के द्वारा वहां के कॉलेज और यूनिवर्सिटी के स्‍टूडेंट्स से एनएसयूआई के फॉर्मेट पर बात करके उसे स्टेट को भेजा जाता है।
– फॉर्मेट में जो बातें हैं, उनमें मुख्य रूप से वहां के लोकल लेवल पर स्टूडेंट्स से बातचीत कर उनकी समस्या और उनके सुझावों को सुनना। साथ ही उसमें कांग्रेस का स्टैंड क्लीयर करना।
एनएसयूआई का चुनावी मैनिफेस्टो और वादों को लेकर रोडमैप
– एनएसयूआई की प्रेसिडेंट अमृता धवन ने बताया कि पीके ने जो फार्मेट दिया है, उसमें स्टूडेंट्स से उनका फीडबैक लेने के साथ ही उस पर चर्चा भी करना शामिल है।
– सभी कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में फ्री वाईफाई देना। फ्री लैपटॉप क्लास 9 से।
– जरूरतमंद स्टूडेंट्स को बिना ब्‍याज के 10 लाख तक का एजुकेशन लोन देना।
– सभी गांवों में फ्री वाईफाई देना। टीचर्स की बढ़ती डिमांड के हिसाब से उनकी वैकेंसी को जल्द से जल्द भरना।
– हर जिले में अलग से स्‍पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बनाना।
यूपी में बनेगी ज्वाइंट एक्शन कमिटी
– अमृता धवन के मुताबिक, यूपी में पूरी तरह से एजुकेशन का लेवल गिर चुका है।
– इसी वजह से हमने ज्वाइंट एक्शन कमिटी बनाई है, जो यूनिवर्सिटी में जाकर वहां के स्टूडेंट्स की समस्या को सुनकर उनके खिलाफ हो रहे अन्याय पर लड़ने का काम करेगी।
– केंद्रीय विश्वविद्यालयों में पूरी तरह से केंद्र सरकार अपना एजेंडा लाना चाहती है जो गलत है।
– हम ज्वाइंट एक्शन कमिटी के जरिए इस तरह के हो रहे उत्पीड़न को रोकेंगे।

LEAVE A REPLY