चुनाव से पहले सीएम अखिलेश का बड़ा फैसला, ग्राम रोजगार सेवकों का मानदेय बढ़ाकर किया 6 हजार

33
SHARE
सीएम अखिलेश यादव ने आगामी चुनाव को देखते हुए ग्राम रोजगार सेवकों का मानदेय डबल कर दिया है। अभी तक यूपी के ग्राम रोजगार सेवकों को 3 हजार 630 रूपए मानदेय मिल रहा था। अब सीएम अखिलेश यादव के एलान के बाद यह मानदेय बढ़ कर 6 हजार रूपए हो जाएगा। इसके लिए अधिकारीयों को आदेश भी भेज दिया गया है। यही नहीं सीएम अखिलेश यादव ने ग्राम रोजगार सेवकों की अन्य मांगों पर भी विचार करने का आश्वासन दिया है।
संविदाकर्मियों की मांगों के लिए गठित होगी कमेटी
– सीएम अखिलेश यादव ने अन्य संविदाकर्मियों की मांगों को देखने के लिए एक कमेटी गठित करने का भी आदेश दिया है।
– यह कमेटी डेढ़ महीने में ही अपनी संस्तुति सीएम अखिलेश यादव को भेजेगी।
– इस कमेटी में आंगनबाड़ी कार्यकत्री, आशा बहु, ग्राम रोजगार सेवकों आदि संविदाकर्मियों की मांगों पर विचार किया जाएगा।
37 हजार को मिलेगा फायदा
– ग्राम रोजगार सेवक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बताया कि सीएम के एलान से 37 हजार 683 ग्राम रोजगार सेवकों को फायदा मिलेगा।
– उन्होंने बताया कि हमने मानदेय 9 हजार करने की मांग की थी।
– अखिलेश ने बताया कि हमारी मांग यह भी थी कि जिन ग्राम रोजगार सेवकों के पास ट्रिपल सी का सर्टिफिकेट है। उन्हें 1900 का ग्रेड पे दिया जाए।
– जबकि हमारा पद नाम बदल कर ग्राम विकास सहायक किया जाए।
नियमितीकरण की मांग होगी सपा के घोषणापत्र में
– ग्राम रोजगार सेवक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बताया कि सीएम ने हमें नियमितीकरण का भरोसा भी दिया है।
– उन्होंने कहा है कि नियमितीकरण करने का वादा हम अपने घोषणा पत्र में डालेंगे।
– उन्होंने कहा सीएम के फैसले का हम सम्मान करते हैं।
– 2007-08 में ग्राम रोजगार सेवक का पद सृजित हुआ था।
– उसके बाद 2009 से हम लगातार सरकार से नियमितीकरण की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY