किसान परेशानी में है,ये केंद्र सरकार की तरफ से पैदा की गई आपदा है-अखिलेश यादव

7
SHARE
सीएम अखिलेश यादव ने शुक्रवार को लोक भवन में कैबिनेट मीटिंग बुलाई। चुनाव से पहले हुई इस कैबिनेट मीटिंग में कई अहम एजेंडों पर फैसला लिया गया। कैबिनेट मीटिंग के बाद अखिलेश ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान नोट बैन को लेकर केंद्र सरकार पर जमकर निशान साधा। अखिलेश ने कहा कि इस सरकार ने अभी पैसे में फंसाया है, हो सकता है कल देश को फंसा दें। वहीं, मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि बुआ को आज कल ज्‍यादा तकलीफ हो रही है।
अखिलेश ने नोट बैन को लेकर कहा कि ये सरकार का बनाया हुआ संकट है। पांच सौ और हजार के नोट को लेकर हर वर्ग के लोग परेशान हैं। किसान सबसे ज़्यादा परेशान हैं। यह करेंसी एक्‍सचेंज का मामला 6 महीने से 1 साल तक चलेगा।  इससे किसान बर्बाद हो जाएगा। रोजगार पर असर पड़ेगा, अर्थव्‍यवस्‍था पर असर पड़ेगा। इस फैसले से हमारा देश पिछड़ जाएगा। कारखाने बंद हो जाएंगे, श्रमिकों को पैसा कैसे मिलेगा। अखिलेश ने कहा अब किसान के सामने बुआई का संकट खड़ा हो गया है। मंडियों का कारोबार रुक गया है। इस सरकार ने तैयारी के बिना ही निर्णय ले लिया। अभी तो पैसे में फंसाया है, हो सकता है कल देश को फंसा दें। सरकार पहले सहूलियत तो दे, अगर किसान की बुआई नहीं हुई तो कितना बड़ा संकट हो जाएगा।  सवाल कारोबार बढ़ाने का है। अगर यह रुक जाएगा तो देश को नुकसान होगा।
अखिलेश ने मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि इस समय आप बुआ से डेली मिल रहे हैं। उन्‍हें आज-कल ज्‍यादा तकलीफ हो रही है। बुआ को यह तकलीफ है कि सपा सरकार फिर आ रही है। सड़कें, एंबुलेंस, हवाई पट्टी, अस्‍पताल सब समाजवादियों ने बनाया। अब हमने 24 घंटे बिजली कर दी। क्‍या बीजेपी वाले दिन के घंटे बढ़ा देंगे, 26 घंटे कर देंगे क्‍या?  बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं बचा। इन्‍होंने तमाम रथ निकाले, लेकिन लोग नहीं आ रहे। सब लाइन में लगे हैं, बाजार बंद हैं।  हमारा रथ चलेगा तो देखना कितने लोग आते हैं।