भोपाल-उज्जैन ट्रेन धमाके के आरोपी के बेटों ने कहा- देश का दुश्मन, हमारा भी दुश्मन

14
SHARE

यूपी एटीएस ने बृहस्पतिवार को भोपाल-उज्जैन ट्रेन धमाके में वायुसेना के पूर्व कर्मचारी, गौस मोहम्मद खान(जीएम खान) समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया। गौस मोहम्मद के दोनों बेटे, अब्दुल कादिर और अब्दुल आदिल ने बताया कि उन्हें बृहस्पतिवार को मीडिया से पता चला कि उनके पिता का आतंकियों से रिश्ता है। उन्होंने कहा, ‘जो आदमी देश का दुश्मन है वो हमारा भी दुश्मन है। अब हमारा, हमारे पिता के साथ कोई संबंध नहीं है। कानून उनके खिलाफ निर्णय लेने को स्वतंत्र है|

उन्होंने आगे कहा, ‘बीते दो सालों से, हमें इनके बारे में कोई जानकारी नहीं थी। उन्हें हम जिन्दा हैं या नहीं ये भी जानने की दिलचस्पी नहीं थी।’ बता दें कि भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में धमाके मामले में यूपी एटीएस ने बृहस्पतिवार को दो संदिग्धों,  गौस मोहम्मद खान, और अजहर को गिरफ्तार किया। गौस मोहम्मद भारतीय वायुसेना में 15 साल तक एयरमैन के रुप में काम कर चुका है। इसने 1993 में वायुसेना से वीआरएस ले लिया था|’

पुलिस ने बताया कि भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में धमाके के पीछे मास्टर माइंड गौस मोहम्मद खान था। साथ ही गौस मोहम्मद ने आईएस खुरासान ग्रुप को तैयार किया था। पुलिस का दावा है कि इस पूरे ग्रुप को गौस मोहम्मद ने ही तैयार किया था। इसका काम युवाओं को प्रेरित करना, उन्हें ट्रेनिंग देना और आईएस से जुड़े साहित्य उपलब्ध कराना था।

उत्तर प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था, दलजीत सिंह चौधरी ने दावा किया है कि इस पूरे ग्रुप को एटीएस, एसटीएफ और पुलिस ने मिलकर नष्ट कर दिया है। केवल एक युवक रॉकी रानावत ही अब पुलिस की पकड़ से दूर है, जिसने इन लोगों को असलहे उपलब्ध कराए थे। बता दें कि इसी ग्रुप का एक सक्रिय सदस्य सैफुल्लाह बुधवार को लखनऊ में 12 घंटे से ज्यादा देर तक चले एनकाउंटर में मारा गया था|

जीएम खान के साथ पकड़ा गया अजहर इस ग्रुप के लोगों को असलहे उपलब्ध कराता था। एडीजी कानून व्यवस्था दलजीत सिंह चौधरी ने बताया कि कानपुर से फरार हुए अजहर को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। अजहर पर आरोप है कि वह शैलेंद्र और रॉकी रानावत के साथ मिलकर इस ग्रुप के एक अन्य सदस्य फकरे आलम को असलहे उपलब्ध कराता था। एटीएस और एनआईए के अधिकारी दोनों से पूछताछ कर रहे हैं|