शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बीजेपी से पूछा, नोटबंदी तत्काल हो सकती है तो राममंदिर क्यू नहीं ?

22
SHARE

भले ही केंद्र और महाराष्ट्र में शिवसेना भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ सरकार में हो लेकिन तीखे वार करने से नहीं चूक रही है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शनिवार को सवाल किया कि केंद्र की बीजेपी सरकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए उस तरह से तत्काल निर्णय क्यों नहीं करती जिस तरह से उसने नोटबंदी के मामले में किया था. ठाकरे ने पुणे में पार्टी नेताओं की एक बैठक के बाद कहा , ‘‘वे (बीजेपी) चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण, समान नागरिक संहिता और जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने की बात करते हैं लेकिन किस चुनाव में 2019 या 2050, वे यह नहीं बताते. ’’ ठाकरे ने कहा , ‘‘ आपने (बीजेपी सरकार) जिस तरह से नोटबंदी का तत्काल निर्णय किया, आप राम मंदिर निर्माण का भी तत्काल निर्णय कर सकते हैं क्योंकि आपके पास बहुमत है. ’’ उन्होंने कहा कि अभी तक बीजेपी का एजेंडा विकास था लेकिन अब उसका स्थान राम मंदिर मुद्दे ने ले लिया है.उद्धव ठाकरे का बयान ऐसे समय में आया है जब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कथित तौर पर राम मंदिर को लेकर बयान दिया है. हैदराबाद में एक बीजेपी नेता ने दावा किया था कि अमित शाह ने कहा है, ”मेरा मानना है कि आगामी आम चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा.’

हालांकि बीजेपी ने दावों को खारिज किया. बीजेपी ने ट्वीट कर कहा, ”तेलंगाना में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने राम मंदिर मुद्दे पर कोई बयान नहीं दिया, जैसा कि मीडिया के कुछ वर्गो में दावा किया जा रहा है. इस तरह का कोई मुद्दा एजेंडा में भी शामिल नहीं है.”