उदयवीर सिंह 6 साल के लिए समाजवादी पार्टी से बर्खास्त

75
SHARE

समाजवादी पार्टी में कलह चरम पर पहुंच गया है. यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के समर्थन में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को पत्र लिखने वाले एमएलसी उदयवीर सिंह को पार्टी से 6 साल के लिए बर्खास्त कर दिया गया है.

उदयवीर सिंह ने अपने पत्र में अखिलेश यादव को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाकर उन्हें उनका हक देने की मांग की थी. उदयवीर सिंह के पत्र पर एमएलसी आशु मलिक ने पलटवार करते हुए उनपर चापलूसी करने का आरोप लगाया था. इसके बाद से पार्टी में एक बार फिर से मतभेद खुलकर सामने आ गया.

समाजवादी पार्टी से निकाले जाने के बाद उदयवीर सिंह ने कहा, ‘अगर एक फादर या पिता संरक्षक है तो इसमें क्या गलत है. मुलायम सिंह जी के संरक्षण में ही पार्टी चल रही है. पिता संरक्षक ही होता है. अगर किसी को सेनापति बना दिया गया है तो उसको सभी हक मिलने चाहिए. बड़े और छोटे नेता की बात नहीं है. समाजवादी पार्टी में अपनी बात रखने का सबको अधिकार है.’

उदयवीर ने कहा, ‘नेताजी जो फैसला करेंगे वो मैं मानूंगा. मैंने जो भी लिखा उस पर कायम हूं. अखिलेश जी के साथ जो हुआ वह गलत है. मैंने जो भी लिखा वह सही है. ऐसा पहले भी हुआ है कि पार्टी में लोगों को निकाला गया है. लेकिन बाद में गलती का एहसास हुआ तो वापस भी लिया गया. लेटर लिखने का कोई अफ़सोस नहीं है. पार्टी का समर्पित कार्यकर्ता हूं.’