बीजेपी सांसद के नाम पर अफसरों को करते थे कॉल, धरे गए

20
SHARE

मुजफ्फरनगर में पुलिस ने दो युवकों क गिरफ्तार किया है जो बीजेपी सांसद संजीव बालियान बनकर अफसरों को फोन करते थे और रौब गांठते थे। दोनों आरोपी बागपत के रहने वाले हैं। इनमें एक सांसद बनता था, जबकि दूसरा उनका पीए। अफसरों को कॉल करते वक्त पहले पीए बोलता था कि माननीय सांसदजी बात करेंगे, इसके बाद दूसरा, सांसद बनकर अफसरों पर रौब गांठता था।

पुलिस के मुताबिक पिछले कुछ महीनों से दो युवक खुद को सांसद डॉ. संजीव बालियान और उनका पीए बनकर मुख्यमंत्री कार्यालय समेत प्रदेश के कई आला अफसरों को फोन कर धमका रहे थे। इनके बात करन के अंदाज पर शक होने से कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री के सचिव ने डॉ. संजीव बालियान को फोन कर वास्तविकता का पता किया कि उन्होंने सीएम कार्यालय को फोन किया या नहीं। संजीव बालियान के इन्कार करने पर शक, यकीन में बदल गया कि कोई उनके नाम से फर्जी कॉल कर रहा है। जांच में कई अफसरों को इस तरह की फोन कॉल किए जाने का मामला सामने आया।

आखिरकार सर्विलांस के जरिए पुलिस ने दोनों युवकों को ट्रेस कर लिया। ये युवक बागपत जिले के छपरौली थाना क्षेत्र के रठौरा गांव के निवासी हैं। आरोपी बीए के छात्र हैं और पूछताछ में दोनों ने बताया कि वह यह काम पैसे के लिए नहीं बल्कि उन्हें ऐसा करने में मजा आता था कि कोई बड़ा अफसर उन्हें सर और जय हिंद  कहता था। फोन करने के लिए अधिकारियों के नंबर वह इंटरनेट से लेते थे। इन्होंने मोबाइल पर ट्रेकुलर एप में डॉ संजीव बालियान फीड कर रखा था, इससे वह जिसे भी कॉल करते थे उनके फोन पर बालियान का नाम फ्लैश होता था।

इन युवकों ने सहारनपुर के एसएसपी तक को कॉल करके रौब गांठने की कोशिश की थी। बहरहाल पुलिस ने दोनों का धोखाधड़ी की धाराओं में चालान किया है। इनके पास से फोन कॉल करने में इस्तेमाल मोबाइल और दो सिम बरामद कर लिए गए हैं।