वॉशिंग मशीन में गिरने से दिल्ली में जुड़वां बच्चों की मौत

13
SHARE

दिल्ली के रोहिणी इलाके में वाशिंग मशीन के टैंक में डूबने से तीन साल के दो जुड़वां भाइयों की मौत हो गई। शनिवार को जब यह घटना हुई, उस समय मां वाशिंग पाउडर लाने के लिए घर के पास की दुकान पर गई थी। इसी बीच दोनों मासूम बाथरूम में मशीन के पास रखे कपड़ों के ऊपर चढ़कर पानी से भरे टैंक में झांकते वक्त उसके अंदर गिर गए|

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रविंद्र सिंह परिवार सहित रोहिणी स्थित अवंतिका सेक्टर-1 के मकान संख्या बी-823 में रहते हैं। वह कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस में मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। परिवार में पत्नी राखी और तीन बेटे थे। बड़ा बेटा आदी 10 साल का है। दोनों जुड़वा नकक्ष और निशांत उर्फ नीशु तीन साल के थे|

शनिवार सुबह रविंद्र काम से घर से निकल गए और बड़ा बेटा स्कूल चला गया। राखी दोनों बेटों को नहलाने के बाद वाशिंग मशीन में पानी भरकर घर के पास ही एक दुकान से वॉ¨शग पाउडर लाने चली गईं। 1थोड़ी देर बाद जब वह लौटीं तो उन्हें बच्चे कहीं दिखाई नहीं दिए|

आसपास काफी तलाशने के बाद भी वे नहीं मिले तो उन्होंने तुरंत पति को इसकी सूचना दी। इसी बीच पड़ोसी ने दोपहर 1.10 बजे पुलिस को दोनों बच्चों के गुम होने की फोन पर जानकारी दे दी। उधर, घर पहुंचे रविंद्र दोनों बेटों को तलाशते हुए बाथरूम में पहुंचे|

उन्होंने वाशिंग मशीन में देखा तो उनके होश उड़ गए। दोनों बच्चे मुंह के बल वाशिंग मशीन के अंदर पड़े थे। टैंक में उस समय करीब 15 लीटर पानी था। रविंद्र बच्चों को रोहिणी के जयपुर गोल्डन अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। देर शाम परिजनों ने उनका अंतिम संस्कार कर दिया|

नकक्ष और निशांत दिसंबर 2016 में ही तीन साल के हुए थे। रविंद्र परिवार के साथ पांच साल पहले ही रोहिणी रहने के लिए आए थे। उनके पिता परिवार के साथ दिल्ली के ही शकूरपुर गांव में रहते हैं। घटना के बाद से परिवार को रो-रो कर बुरा हाल है। गौरतलब है कि ढाई साल पहले महरौली में पानी से भरे एक टब में गिरने से तीन माह की बच्ची की मौत हो गई थी|