गोवा और मणिपुर में लोकतंत्र को समाप्त करने की कोशिश: राहुल गांधी

11
SHARE

गोवा के राज्यपाल द्वारा भाजपा को बहुमत साबित करने के लिए जो 15 दिनों का समय दिया था उसको घटाकर 16 मार्च का समय मुकर्रर कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर जब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से पूछा गया तो उनका जवाब था कि पहले गाड़ी से बाहर निकलूंगा तो उसके बाद जवाब दूंगा|

गोवा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 17 सीटें मिली हैं और भाजपा को 13 सीटें मिली हैं। इसके बाद भी भाजपा आगे बढ़कर राज्य में सरकार के गठन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए राज्यपाल से मुलाकात करके दावा पेश कर दिया और राज्यपाल ने भाजपा को सरकार बनाने का न्योता भी दे दिया। उसके खिलाफ कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की इस दलील को खारिज कर दिया कि मनोहर पर्रीकर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से रोका जाए|

गोवा और मणिपुर में भाजपा जो कुछ कर रही है वो सभी के सामने है। भाजपा की इन्हीं नीतियों के खिलाफ कांग्रेस पार्टी लड़ाई लड़ रही है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में से तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत हुई। लेकिन गोवा और मणिपुर में पैसे और शक्ति के बल लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है|

विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार पर राहुल गांधी ने कहा कि हम विपक्ष में हैं, जैसे जिंदगी में उतार चढ़ाव आते हैं हम भी सामना कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश में हमें आशातीत सफलता नहीं मिली जिसे हम स्वीकार करते हैं। हमारी लड़ाई भाजपा की विचारधारा से है। भाजपा की शानदार जीत पर राहुल गांधी ने कहा कि पहले तो वो बधाई देते हैं। लेकिन भाजपा की जीत के पीछे तमाम वजहें थीं, जिनमें ध्रुवीकरण प्रमुख था|