त्रिवेंद्र रावत आज लेंगे उत्तराखंड के CM पद की शपथ

22
SHARE

शनिवार 3 बजे त्रिवेंद्र रावत उत्तराखंड के सीएम पद की शपथ लेंगे। 19 साल आरएसएस के प्रचारक रहे त्रिवेंद्र रावत को शुक्रवार विधायक दल का नेता चुना गया था। रावत झारखंड बीजेपी के इन्चार्ज भी रहे हैं। नरेंद्र मोदी और अमित शाह शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हो सकते हैं।मीटिंग में सभी 57 विधायक मौजूद थे।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक देहरादून में हुई मीटिंग में धर्मेन्द्र प्रधान, जेपी नड्डा और श्याम जाजू के अलावा बीजेपी के सभी 57 विधायक मौजूद थे। इस दौरान रावत को विधायक दल का नेता चुना गया।
– रावत ने देहरादून की डोईवाला विधानसभा सीट से कांग्रेस के सीनियर लीडर हीरा सिंह बिष्ट को 24,869 वोटों से हराया था। वे उत्तराखंड में कृषि मंत्री रह चुके हैं।
– त्रिवेंद्र सिंह रावत के नाम पर मुहर गुरुवार को दिल्ली में लगी थी। उन्हें अचानक दिल्ली बुलाया गया था।
अमित शाह के करीबी हैं रावत
– बीजेपी के नेशनल सेक्रेटरी और जर्नलिस्ट रह चुके रावत बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के करीबी हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी इन्होंने शाह के साथ काफी काम किया था।
– संघ की प्रदेश इकाई ने भी रावत के नाम पर मुहर लगाई थी। 2014 में झारखंड का इंचार्ज बनने के बाद इनके नेतृत्व में राज्य में बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी थी।
– बता दें कि उत्तराखंड 2000 में यूपी से अलग होकर नया राज्य बना था।
रावत के नाम पर इन वजहों से लगी मुहर
– त्रिवेंद्र सिंह रावत आरएसएस के प्रचारक रहे हैं। अमित शाह के साथ भी इनकी खूब पटरी बैठती है। लोकसभा चुनावों में शाह यूपी के प्रभारी थे तो रावत सह-प्रभारी। तब बीजेपी के 80 में से 73 कैंडिडेट्स जीते थे।
– इसके बाद शाह ने रावत को 2014 में विधानसभा चुनाव से पहले झारखंड का प्रभारी बनाया तो पहली बार पार्टी की बहुमत की सरकार बनी। रावत को फिर नमामि गंगे समिति का नेशनल कन्वीनर बनाया गया।
– रावत को एडमिनिस्ट्रेशन चलाने का तजुर्बा भी है। वे खंडूरी और रमेश पोखरियाल की कैबिनेट में मंत्री रहे हैं।
असेंबली का गणित
– कुल सीटें: 70
– BJP: 57 सीटें
– Cong: 11 सीटें
– अन्य: 2 सीटें