इंडोनेशिया में चोरी के आरोप में टूरिस्ट्स को गले में ‘चोर’ की तख्ती लगाकर सड़कों पर घुमाया

11
SHARE
इंडोनेशिया के एक अहम टूरिस्ट प्लेस पर एक महिला समेत दो ऑस्ट्रेलियन टूरिस्ट्स पर साईकिल चोरी का आरोप लगा। लोकल रूल्स के मुताबिक, इन्हें सजा दी गई। दोनों टूरिस्ट्स के गले में एक तख्ती लगाकर उन्हें शहर की सड़कों पर घुमाया गया। तख्ती पर लिखा था, ‘मैं चोर हूं। जो मैंने किया वो आप मत करना|
घटना कुछ दिनों पहले इंडोनेशिया के वर्ल्ड फेमस टूरिस्ट डेस्टिनेशन ‘गिली त्रवान्गन’ में हुई। अब मीडिया इसे ‘वॉक ऑफ शेम’ यानी शर्मसार करने वाली परेड करार दे रहा है। ब्रिटिश अखबार ‘द गार्डियन’ ने इसको एडिशन में प्रमुखता से जगह दी है।दोनों टूसिस्ट्स की आईडेंटिटी पब्लिक नहीं की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों टूरिस्ट्स एक होटल में ठहरे थे। यहां की पार्किंग में से उन्होंने एक साईकिल चुराई और घूमने निकल गए।  अगले दिन उन्हें लोकल अथॉरिटी ने पकड़ा। चोरी की तख्ती लगाकर सड़कों पर घुमाया|
लोकल अथॉरिटी के चीफ मोहम्मद तौफीक ने बताया- हमने उनसे पूछताछ की। इसके बाद एक एग्रीमेंट हुआ। उनकी गले में तख्ती लगाकर परेड कराई गई और इसके बाद उनसे शहर छोड़ने को कह दिया गया।तौफीक के मुताबिक, लोकल लोगों को भी चोरी के आरोप में इसी तरह की सजा दी जाती है। इंडोनेशिया के इस हिस्से में भी देश का कानून चलता है लेकिन इस मामले में ये साफ नहीं हो सका कि इन लोगों की पुलिस जांच की गई या नहीं। तौफीक ने कहा, “ये तो हमारे यहां होता ही आया है। मुझे नहीं पता कि पुलिस उन पर क्या आरोप दर्ज करती है। मेरे लिए यही जरूरी है कि वो लोग अब शहर छोड़कर जा चुके हैं|”
लोकल मीडिया के मुताबिक, ‘गिली त्रवान्गन’ में इस तरह की सजा कई सालों से दी जाती आ रही है। यहां की पॉपुलेशन सिर्फ 800 है और एरिया दो किलोमीटर है।लोगों का कहना है कि घटना के वक्त यहां पुलिस मौजूद नहीं थी|