भू-माफिया के खिलाफ सख्त योगी सरकार

114
SHARE

योगी सरकार अब जमीन पर अवैध कब्जा करने वाले लोगों की पहचान भू-माफिया के रूप में कर रही है। प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम अरविंद कुमार और डीजीपी सुलखान सिंह ने अफसरों को दो टूक हिदायत दी है कि ऐसे लोग चाहे कितने भी रसूखदार हों, शातिर और पेशेवर भू-माफिया के तौर पर पहचान कर उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन अब भू-माफियाओं को गैंगस्टर एक्ट में चार्ज करने की तैयारी में जुट गया है।

प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम अरविंद कुमार और डीजीपी सुलखान सिंह ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी डीएम और एसएसपी से लॉ एंड ऑर्डर को और प्रभावी बनाने पर व‍िचार-व‍िमर्श क‍िया। इस दौरान क्रिमिनल्स पर कंट्रोल के निर्देश के साथ गश्त, कैजुअल चेकिंग और इंटैलिजेंस सिस्टम डेवलप करने के अलावा लोगों की शिकायतों को प्रियॉरटी से निपटाने के निर्देश दिए गए।

अरविंद कुमार ने कहा कि अगर किसी कमजोर व्यक्ति की निजी जमीन पर कोई दबंग कब्जा करने की कोशिश करता है या प्रताड़ित करने की शिकायत मिलती है तो तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए। इस दौरान एडिशनल चीफ सेक्रेटरी माइनिंग, आरपी सिंह ने सरकार द्वारा खनिज पट्टों की नीलामी के लिए शासन के कामों की भी जानकारी दी।

सरकार की करप्शन को लेकर जीरो टॉलरेंस पॉलिसी को डीएम और एसपी को संयुक्त प्रयास से प्रमुखता देने को कहा गया है। करप्शन की शिकायत मिलने पर मजिस्ट्रेट और पुलिस उपाधीक्षक की ज्वाइंट टीम सीक्रेटली (गोपनीय रूप से) कार्रवाई कर उसका पर्दाफाश करेगी। कमिश्नर और रेवेन्यू काउंसिल की सेक्रेटरी लीना जौहरी ने एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स की प्रोग्रेस का भी ब्योरा दिया।