टोक्यो में बोले PM मोदी, ‘सशक्त भारत और सशक्त जापान’ पूरे विश्व के लिए अहम

13
SHARE
जापान दौरे पर शुक्रवार को CII-Keidanren luncheon को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘सशक्त भारत और सशक्त जापान’ एशिया और पूरे विश्व के लिए अहम साबित होंगे। भारत की जरूरतों में जापान की भूमिका महत्वपूर्ण है। हमारे मेगा प्रोजेक्ट्स में जापान की भागीदारी स्केल और स्पीड को रेखांकित करती है।  

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारा उद्देश्य भारत को विश्व में सबसे खुली अर्थव्यवस्था बनाना है। दो सालों में भारत वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की वैश्विक प्रतिस्पर्धा इंडेक्स में 32 स्थान ऊपर पहुंच गया है। एफडीआई इक्विटी पिछले दो सालों में 52 प्रतिशत बढ़ी है। बिजनेस को आसान बनाने के लिए हमने पर्याप्त कदम उठाए हैं।’

मोदी ने कहा कि सस्ते श्रम, बड़ा घरेलू बाजार और स्थिर मैक्रो-इकोनॉमी निवेश के लिए विश्व समुदाय को भारत की ओर आकर्षित करती है। उन्होंने कहा कि ‘मेड इन इंडिया’ और ‘मेड बाई जापान’ की जोड़ी बेहतरीन काम कर रही है। जापान एफडीआई के मामले में चौथा सबसे बड़ा स्त्रोत बनकर उभरा है और यही स्थिति अन्य क्षेत्रों में भी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2015 में भारत की अर्थव्यवस्था ने अन्य देशों के मुकाबले तेजी से विकास किया है। एशिया के विकास में भारत और जापान अहम भूमिका निभाते रहेंगे। एशिया वैश्विक विकास के नए केंद्र के रूप में उभरा है।

उन्होंने कहा कि जापानी हार्डवेयर और भारतीय सॉफ्टवेयर का कॉम्बो शानदार हैं। आइए आगे बढ़े और सुनहरे भविष्य के लिए संभावनाओं को तलाशें|