मृतक अफसर को बुलंदशहर का नगर मजिस्ट्रेट बनाया

93
SHARE

शासन ने सात माह पहले मृत अधिकारी का न सिर्फ प्रमोशन किया बल्कि नई तैनाती में मृतक को बुलंदशहर में नगर मजिस्ट्रेट के पद पर स्थानांतरण भी दे दिया गया। इसके इतर हकीकत यह कि मृत अधिकारी का बेटा आश्रित कोटे के तहत बनारस कलेक्ट्रेट में नौकरी कर रहा है।

इतना ही नहीं प्रभावित परिवार को मृत अधिकारी के बकाये का कुछ भुगतान भी कर दिया गया और शेष प्रक्रिया में है। जिला प्रशासन ने इसकी सूचना भी शासन को भेज दी। इतना सब होने के बाद मृत अधिकारी का प्रमोशन कर गैर जनपद स्थानांतरण आदेश होने से कलेक्ट्रेट के अधिकारी और कर्मचारी हैरान हैं।

वाराणसी में अपर उप जिलाधिकारी व प्रभारी अधिकारी नजारत रहे गिरीश कुमार शर्मा की वर्ष 2016 में 29 नवंबर को उपचार के दौरान मौत हो गई थी। उनकी मौत के बाद जिला प्रशासन ने कागजी कार्रवाई करते हुए बेटे राजुल शर्मा को चार जनवरी 2017 को लिपिक पद पर नौकरी दे दी। वह वर्तमान में फौजदारी रिकार्ड रूम में प्रति लिपिकार है।

इस बीच पिछले दिनों शासन ने 200 से अधिक पीसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण की सूची जारी की। इसमें बनारस में तैनात गिरीश कुमार शर्मा का भी नाम शामिल है। जानकारी होने पर अपर जिलाधिकारी राजस्व एवं वित्त ने शासन में संबंधित अधिकारियों से वार्ता कर वास्तविक स्थिति की जानकारी दी। इसके बाद शासन को अपनी चूक का अहसास हुआ।