पाकिस्तान की और से फायरिंग में सेना मेजर सहित तीन जवान शहीद

43
SHARE

जम्मू के राजौरी सेक्टर के केरी एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से की गयी फायरिंग में एक मेजर सहित तीन जवान शहीद हो गए.

सेना ने जाबांज बहादुर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि इन शहीद जवानों का बलिदान हम व्यर्थ नहीं जाने देंगे. सेना के मुताबिक शनिवार को अचानक बिना किसी उकसावे वाले कार्रवाई के दोपहर सवा बारह बजे पाक की ओर से युद्धविराम का उल्लंघन किया गया.

पाकिस्तान की ओर से घात लगाकर सेना के गश्ती दल पर निशाना साधा गया.पाकिस्तान की गोलाबारी में सेना के मेजर मोहरकार प्रफुल्ल अंबादास, लांस नायक गुरमेल सिंह, लांस नायक कुलदीप सिंह और सिपाही परगट सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए जिनकी बाद में मृत्यु हो गई. इस दौरान एक जवान घायल हो गया.

घायल जवान को अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं. पाक गोलबारी का भारतीय सेना ने मुहतोड़ जवाब दिया है लेकिन उस तरफ हुए नुकसान की कोई खबर नही मिली हैं.

32 साल के मेजर अंबादास महाराष्ट्र के भंडारा जिले के रहने वाले थे. वह अपने पीछे अपनी पत्नी अवोली मोहरकार छोड़ गए हैं. 34 साल के लांस नायक गुरमैल सिंह पंजाब के अमृतसर के रहने वाले थे. ये अपने पीछे अपनी पत्नी कुलजीत कौर और एक बेटी छोड़ गए हैं.

30 साल के लांस नायक कुलदीप सिंह पंजाब के भटिंडा के गांव कॉरेणा के रहने वाले थे. ये अपने पीछे पत्नी जसप्रीत कौर और एक बेटा और एक बेटी छोड़ गये हैं. 30 साल के सिपाही परगट सिंह हरियाणा के करनाल जिले के रहने वाले थे. ये अपने पीछे अपनी पत्नी श्रीमती रमनप्रीत कौर और एक बेटा छोड़ गए हैं. मेजर मोहरकार प्रफुल्ल अंबादास, लांस नायक गुरमैल सिंह और सिपाही परगट सिंह सेना के बहादुर और समर्पित सैनिक थे.