जिन्हें बंदूक की नोक पर विश्वास, उन्हें बंदूक की भाषा में ही जवाब : योगी

73
SHARE

आपराधिक तत्वों को कड़ी चेतावनी देते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा कि जो लोग समाज का माहौल बिगाड़ना चाहते हैं और जिन्हें बंदूक की नोक पर विश्वास है, उन्हें बंदूक की भाषा में ही जवाब दिया जाना चाहिए. योगी ने कहा, ‘सुरक्षा की गारंटी हर व्यक्ति को मिलनी चाहिए लेकिन जो लोग समाज का माहौल बिगाड़ना चाहते हैं, जिन लोगों को बंदूक की नोक पर विश्वास है, उन्हें बंदूक की भाषा में ही जवाब भी दिया जाना चाहिए. मैं प्रशासन से कहूंगा कि इसमें घबराने की आवश्यकता नहीं है…’ उन्होंने सपा पर हमला करते हुए कहा, ‘लाल टोपी पहनकर किसी को भी अराजकता फैलाने की छूट नहीं दी जा सकती है. संसदीय मर्यादा तार तार करने की छूट नहीं दी जा सकती… मैं सलाह दूंगा कि समय रहते सुधरें नहीं तो प्रदेश की जनता उन्हें सुधार ही रही है.’

इससे पहले लखनऊ में योगी ने संवाददाताओं से कहा, ‘विपक्षी नेताओं का अशिष्ट, असंसदीय, अभद्र और अशोभनीय आचरण निन्दनीय है.’ उन्होंने कहा कि इस तरह के आचरण से संसदीय परंपरा टूटती है. ‘कागज के गोले फेंके गये, गुब्बारे उड़ाये गये. सपा सदस्यों ने अपने नेताओं की मौजूदगी में राज्यपाल के लिए अनुचित भाषा का प्रयोग किया. यह असंसदीय आचरण है और निन्दनीय कृत्य भी.’

योगी ने कहा कि यह आचरण अराजकता का संकेत करता है, जो राज्य में पूर्व के शासन में थी. उन्होंने कहा, ‘इन लोगों (सपा) को अराजकता की मनोवृत्ति से बाहर आना बाकी है, जिसकी अनुमति उन्होंने राज्य में दी थी… वे नहीं चाहते कि सदन अराजकता से मुक्त हो.’ योगी ने 7.03 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) कार्यालय भवन का लोकार्पण करते हुए घोषणा की कि अगले एक वर्ष में 1500 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश गीडा में सुनिश्चित किया जाएगा. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सकारात्मक सोच के साथ उद्यमियों को सुविधा पहुंचाने का कार्य करें.

उन्होंने कहा कि स्थापना काल से अब तक गीडा में 1200 करोड़ रुपये का कुल निवेश हुआ है, जो पर्याप्त नहीं है. उन्होंने कहा कि लखनऊ, गाजीपुर, बलिया, बनारस पूर्वांचल एक्सप्रेसवे 341 किलोमीटर लम्बा है. इसका शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे. गोरखपुर से यह बेलघाट-कम्हरिया घाट पुल से जुड़ेगा. योगी ने 336.43 लाख रुपये की लागत से कालेसर-नौसढ़ 10 किलोमीटर एलईडी पथ प्रकाश (रोड लाइट) का उद्घाटन किया. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस मार्ग पर सुरक्षा के लिए पेट्रोलिंग भी बढ़ाएं, जिससे गीडा में कार्य करने वाले उद्यमियों को सुरक्षा मिल सके. उन्होंने इस अवसर पर गीडा के वेबसाइट का भी उद्घाटन किया.

उन्होंने सहजनवां के हरदी गांव में 645.42 लाख रुपये की लागत से बनने वाले राजकीय पालीटेक्निक के आवासीय एवं अनावासीय भवनों का शिलान्यास किया. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विकास की योजना प्रदेश के आमजन एवं अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे, इस उद्देश्य से प्रदेश सरकार काम कर रही है. आज जगह-जगह पालीटेक्निक और आईटीआई खोलने की आवश्यकता है क्योंकि यहां के सर्टिफिकेट से युवाओं को रोजगार मिलने में सुविधा होती है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यों में जनता की सहभागिता अत्यन्त आवश्यक है. उत्तर प्रदेश से युवाओं का पलायन रोकने के लिए गांवों का विकास करना अत्यन्त जरूरी है. पहले पालीटक्निक हाईवे या मुख्य मार्गों पर बनाये जाते थे परन्तु हरदी जैसे गांव में पालीटेक्निक बन जाने से यहां तथा आसपास के क्षेत्रों के युवाओं को तकनीकी शिक्षा मिलेगी.