मध्य प्रदेश में हुई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन मामले की जांच होनी चाहिए: अखिलेश यादव

28
SHARE

अखिलेश यादव ने कल कहा की जैसी घटना (EVM ) मध्य प्रदेश में हुई है उसकी जांच होनी चाहिए। आपको बता दे कि कल अधिकारी के सामने ही जब EVM की टेस्टिंग चल रही थी तब बटन दबाने से कमल के फूल की पर्ची निकल रही थी।

ये है पूरा मामला

मध्य प्रदेश की अटेर और बांधवगढ़ विधानसभा सीट के लिए 9 अप्रैल को उपचुनाव होना है। दोंनों विधानसभा चुनाव में इस बार VVPAT से वोटिंग होगी। इस मशीन की खासियत यह है कि इससे वह पर्ची निकलती है, जिसको आपने वोट दिया होता है। इसे आप घर नहीं ले जा सकते। ये पर्चियां इलेक्शन कमीशन कुछ महीने सुरक्षित रखता है। शुक्रवार को सलीना भिंड पहुंची थीं। उनके सामने ही VVPAT मशीन का डेमो हुआ। मशीन से जुड़ी ईवीएम पर चौथे नंबर का बटन दबाया तो वीवीपीएटी ने पर्ची निकली, जो सत्यदेव पचौरी के नाम की थी। इस पर कमल का फूल चुनाव चिह्न था।
उन्होंने फिर से बटन दबाया तो भी कमल का फूल प्रिंट हुआ। हालांकि तीसरी बार उन्होंने नंबर एक पर बटन दबाया तो पंजा निकला।
ये देखकर सिंह बोलीं, “अब बराबर हो गया है। अगर मीडिया में यह सब छपा तो थाने भिजवा दूंगी।”