सीएम योगी अब फरियादियों के सामने लेंगे अफसरों की क्लास

72
SHARE

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जन शिकायतों के निस्तारण को लेकर अब उन अफसरों की सार्वजनिक क्लास लेंगे, जिन्होंने शिकायत निस्तारण करने में बेहद विलंब किया है। अफसरों की क्लास शिकायतकर्ता के सामने ही होगी।

मुख्यमंत्री कार्यालय के आदेश पर अभी तक कार्रवाई की प्रगति जानने को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज 40 फरियादियों की मौजूदगी में अधिकारियों से मुखातिब होंगे। आज दोपहर 12 से दो बजे तक वह दस जिलों के डीएम, एसपी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात करेंगे।

बताया गया है कि जन शिकायतों का निर्धारित समय में निस्तारण न होने से मुख्यमंत्री खासे खफा हैं। शिकायतों का अंबार लगा है। मुख्यमंत्री कार्यालय से कार्रवाई के लिए भेजे गए प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण नहीं हो रहा है। सच्चाई जानने के लिए मुख्यमंत्री छह जुलाई को खुद जन सुनवाई प्रणाली (आइजीआरएस) की कसौटी पर दस जिलों के डीएम और एसपी की कार्यशैली परखेंगे। इस दौरान वह 40 फरियादियों से भी बात कर उनकी शिकायतों पर कार्रवाई की जानकारी लेंगे।

मुख्यमंत्री ने पहले ही जन शिकायतों के निस्तारण में फिसड्डी दस जिलों के एसएसपी, डीएम को नोटिस दिया गया है। उन्होंने जन शिकायतों के निस्तारण प्रक्रिया की मानीटरिंग के लिए अपने कार्यालय में एक आइएएस अफसर की तैनाती कराई। बावजूद इसके, उनकी अपेक्षा के अनुरूप जिलों में शिकायतों का निस्तारण नहीं हो रहा है। भाजपा मुख्यालय से लेकर पांच, कालिदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर फरियादियों का आना कम नहीं हुआ है।

शासन से डीएम और एसएसपी-एसपी को आइजीआरएस से संबंधित समस्त सूचनाओं के साथ निर्धारित समय से 15 मिनट पहले जिले के एनआइसी सेल के वीडियो कांफ्रेंसिंग कक्ष में संबंधित नोडल अधिकारी के साथ उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं।