विपक्ष के मुद्दा बनाने पर कर्नाटक दौरा बीच में छोड़ तूफान पीड़ितों से मिले CM

10
SHARE

शनिवार को योगी आदित्यनाथ ने कर्नाटक का दौरा बीच में छोड़ आगरा के एसएन कॉलेज अस्पताल जाकर आंधी तूफान में घायल लोगों से मुलाक़ात की.

उत्तर प्रदेश में आंधी और तूूफान से कई दर्जन लोगों की जान चली गई. आगरा में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हुई, और भारी मात्रा में तबाही मची थी और ऐसे में अपने राज्य से दूर कर्नाटक में प्रचार कर रहे सीएम की खासी आलोचना हो रही थी. विपक्ष ने इसे मुद्दा बना लिया था और कर्नाटक में कांग्रेस योगी पर हमलावर थी. यही वजह रही कि शनिवार तक प्रचार करने गए राज्य के मुख्यमंत्री को वापस लौटना पड़ा.

मुख्यमंत्री द्वारा आपदा प्रभावित जनपदों के अधिकारियों को राहत कार्य प्रभावी रूप से संचालित करने, घायलों का समुचित इलाज सुनिश्चित कराने तथा पीड़ितों को हरसम्भव मदद उपलब्ध कराने के निर्देश पूर्व में दिए जा चुके हैं.

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने मारे गये लोगों के प्रति शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया था कि मुख्यमंत्री को कर्नाटक का चुनाव प्रचार छोड़कर तत्काल उत्तर प्रदेश लौट आना चाहिए. जनता ने उन्हें अपने राज्य की समस्याओं के समाधान के लिए चुना है, कर्नाटक की राजनीति के लिए नहीं.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि काफी संख्या में लोगों की मौत के बावजूद प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने स्वार्थपूर्ण चुनावी हितों को पूरा करने के लिए कर्नाटक के चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि योगी देश के सबसे ​गैर जिम्मेदार मुख्यमंत्री हैं. बब्बर ने आंधी तूफान के कारण मारे गये लोगों के परिजनों को पचास-पचास लाख रुपये तथा तूफान से प्रभावित परिवारों को तीस-तीस लाख मुआवजा देने की मांग की.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भी योगी के कर्नाटक में रहने की आलोचना की.