अपराधियों में पुलिस के प्रति खौफ काफी बढ़ा, प्रदेश के अंदर कानून का राज: मुख्यमंत्री योगी

78
SHARE

एक निजी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बेहद खराब थी। यहां दिनदहाड़े लोगों को लूटा जा रहा था, अपहरण हो रहा था। सामूहिक दुष्कर्म के कारण महिलाएं व बेटियां बेहद दहशतजदा थीं। धीरे-धीरे इन पर लगाम लगी और अब अपराधी पुलिस से काफी भयभीत हैं। अपराधियों में पुलिस के प्रति खौफ काफी बढ़ा है। अब अपराधी जमानत कैंसिल कराकर जेल में हर रहना पसंद कर रहे हैं। वह लोग अब जेल से बाहर नहीं आना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश में कानून का राज है। देश में जल्द ही रामराज्य आने वाला है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब अपराधियों के मन में खौफ है। प्रदेश के अंदर कानून का राज है। शोहदों और घर में हो रही हिंसा पर भी कार्रवाई हो रही है। हम भरोसा दिलाते हैं कि उत्तर प्रदेश में पूरी तरह से कानून का राज स्थापित करेंगे। सरकार ने अपराधियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए हैं, जिसकी वजह से अब अपराधी जेल से बाहर नहीं आना चाहते। यूपी में सभी वर्ग के लोग सुरक्षित हैं। जनता को सुरक्षा मुहैया कराना उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अंदर 15 वर्ष में जो शासन हुए उससे सुरक्षा पर बड़े सवाल खड़े हुए। अभी 1100 से अधिक अपराधियों ने उत्तर प्रदेश से बाहर सरेंडर किया है। यूपी में 1400 से अधिक एनकाउंटर हुए हैं। महिला सुरक्षा के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए कार्य कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सौ से अधिक फास्ट ट्रैक कोर्ट की स्थापना कर रहे हैं। जिससे लोगों को जल्दी न्याय मिल सके हैं। इसके साथ ही आने वाले तीन साल में डेढ़ लाख पुलिसकर्मियों की भर्ती होगी। पुलिस विभाग में हर स्तर पर भर्तियां होंगी। दिसंबर में पुलिस की 47 हजार भर्ती की पहली प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। मेरा विश्वास है कि पुलिस की सभी भर्ती आगामी तीन साल में पूरी हो जाएगी। यूपी में सभी वर्ग के लोग सुरक्षित हैं। मैं तो आज भी पहले जैसा हूं, लोगों का दृष्टिकोण बदला होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सपने साकार होने के लिए देखे जाते हैं। हम लोगों ने पूरे देश के सामने विजन रखा है. पीएम नरेंद्र मोदी ने 2022 विजन देश के सामने रखा है। गरीबी, गंदगी, अराजकता, आतंकवाद से मुक्त भारत का संकल्प लिया है। देश के अंदर रामराज आने वाला है. इसके लिए पीएम ने संकल्प से सिद्धि का मंत्र दिया है। उन्होंने कहा कि हमने प्रदेश के 30 लाख युवाओं को रोजगार से जोड़ा है। रोजगार की संभावनाओं को लेकर काम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हम टूरिज्म को प्रमोट कर रोजगार से जोड़ रहे है। यह ऐसा व्यापक तथा बड़ा क्षेत्र है कि इसमें यूपी में बढ़ाया जा सकता है। हम औद्योगिक नीति को लेकर यूपी में आए। इस दिशा में हम लोग प्रयास कर रहे है। एक माह में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम शुरू होगा। इसके साथ मार्च तक बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की शुरुआत होगी। हम लोग प्रदेश के हर जिले को रीजनल एयर कनेक्टिविटी के साथ जोडऩे जा रहे। जेवर एयरपोर्ट बन जाएगा। दोनों नए एक्सप्रेस वे बन जाएंगे। यह सभी प्रोजेक्ट युवाओं के लिए रोजगार की सम्भावनाएं देंगे। हम प्रदेश की नई औद्योगिक नीति लेकर आए हैं। फरवरी में हम एक अंतरराष्ट्रीय उद्योग समिट भी कराने जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि क्रियात्मक योग की जब तह में गया तो पता चला यह महायोगी गोरखनाथ जी की देन है। अवैद्यनाथ जी के सम्पर्क में आया और योग की प्रारम्भिक जानकारी लेने के बाद गोरखनाथ मंदिर के ही योग संस्थान में योग की शिक्षा लेने लगा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन में सोचता था कि वास्तव में जीवन का उद्देश्य क्या है।

मैं कई आश्रमों में गया, कई संतों के सम्पर्क में आया। विद्यार्थी जीवन में योग के प्रति रुचि थी। एक योगी के लिए कुछ भी असम्भव और दुरूह नहीं है। भारत जैसे देश को संचालित करने के लिए एक कर्मयोगी के रूप में पूरे समर्पण के साथ देश को मोदी जी चला रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अयोध्या में विकास की योजनाएं चलाई। अयोध्या में सरयू नदी का बड़ा महत्व है। सरयू और अयोध्या के बीच रिवर फ्रंट बनाया जाएगा। जिससे कि यहां के धार्मिक के साथ अयोध्या का भौतिक विकास भी होगा।

सीएम बनने के बाद तीन बार अयोध्या गया हूं। हमारा प्रयास है कि अयोध्या का समग्र विकास हो, रामायण की थीम को किस तरह वहां उतारा जाए। इसकी प्रस्तावना तैयार हो रही है। अयोध्या अब तक विकास से उपेक्षित थी, अब वह विकास पथ पर बढ़ रही है।