दवा ब्रिक्री पर ‘सख्त’ नियमों के विरोध में आज पूरे देश में दवा की दुकानें बंद

80
SHARE

आज पूरे देश में दवाओं की ब्रिक्री को लेकर ‘सख्त’ नियमों के विरोध में दवा की दुकानें बंद रहेंगी. हालांकि इमरजेंसी में अगर दवा लेना जरूरी है तो अस्पताल और उसके आस-पास की दुकानों से दवा खरीदी जा सकेगी.

ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स (एआईओसीडी) के मुताबिक, उन्होंने सरकार को सख्त नियम के खिलाफ प्रस्ताव भेजे थे, लेकिन इसे सुना नहीं गया और इसके बाद एक दिन की हड़ताल आह्वान किया गया.

एआईओसीडी के वरिष्ठ सदस्य ने कहा, ‘‘हमें दवाओं की बिक्री से संबंधित सभी जानकारी एक पोर्टल पर डालने को कहा गया है, जो कि मौजूदा ढांचे में संभव नहीं है.’’ यह इकाई कल जंतर मंतर पर अपनी चिंताओं को लेकर प्रदर्शन कर सकता है.

एआईओसीडी के एक सदस्य ने कहा, ‘‘हमें दवाओं की बिक्री से संबंधित सभी जानकारी एक पोर्टल पर डालने को कहा गया है, जो कि मौजूदा ढांचे में संभव नहीं है.’’ ई पोर्टल किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं किया जाएगा.

दरअसल सरकार ने कहा है कि दवा विक्रेताओं को डॉक्टर की पर्ची को वेबसाइट पर अपलोड करना होगा, तभी वह किसी को दवा दे सकेंगे. लेकिन यह काम करना इतना आसान नहीं होगा. क्योंकि बिजली नहीं होने या लिंक फेल होने से दवा का नहीं बेची जा सकेगी, जिससे मरीजों को परेशानी होगी और स्थिति नियंत्रण से बाहर हो जाएगी.

वहीं छोटे दवा विक्रेताओं का कहना है कि जो कम मात्रा में फुटकर में दो-चार गोली बेचते ऐसे विक्रेताओं को हर बिक्री को अपडेट करना संभव नहीं होगा. वहीं कुछ का कहना है कि सभी दवा दुकानों पर कंप्यूटर भी नहीं है.