मेरठ में हाजी याकूब की चाबुक वाली बेटी के तीन गुर्गे गिरफ्तार

168
SHARE

पूर्व मंत्री व बसपा नेता हाजी याकूब की बेटी और साथ आए लोगों ने जमकर उत्पात मचाया था। कुरैशी की बेटी और परिजनों द्वारा स्कूल में घुसकर छात्राओं को चाबुक से पीटने के मामले ने मंगलवार को तूल पकड़ लिया। स्कूल में भाजपा और हिंदूवादी संगठनों और अभिभावकों के हंगामे के बाद पुलिस तेजी से हरकत में आयी। छात्राओं की चाबुक से पिटाई करने वाली याकूब की बेटी आशमा की गिरफ्तारी के लिए उसके घर पहुंचीं। उसके साथ जाने वाले तीन युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दबाव बढऩे के बाद स्कूल प्रबंधन ने भी पूर्व मंत्री के परिवार की उन तीनों छात्राओं की टीसी काट दी जिनके कारण स्कूल में उत्पात मचाया गया था। स्कूल प्रबंधन ने भी सदर थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया है।

अलीशा नाम की छात्रा को चाबुक से पीटा गया था। अलीशा के पिता यूसुफ ने सोमवार रात मुकदमा दर्ज कराया था लेकिन आज तहरीर वापस ले ली। मंगलवार को स्कूल में जबर्दस्त हंगामे और प्रबंधन द्वारा मुकदमा दर्ज कराने के बाद पुलिस अफसर भारी फोर्स के साथ कोतवाली के बनी सराय पहुंचे। स्कूल में छात्रा रमशा के फॉर्म पर उपलब्ध पते पर पुलिस गयी तो पता चला कि चाबुक से मारने वाली महिला रमशा की मां नहीं बल्कि उसकी खाला है। रमशा, आशमा के यहां रहकर ही पढ़ाई करती है। रमशा के माता-पिता सलीम और भूरी हापुड़ में रहते हैं। पुलिस ने यहां आशमा को ढूंढा, लेकिन नहीं मिली।

इस मामले में पुलिस ने पांच युवकों को हिरासत में लिया है। इनमें से तीन को जेल भेज दिया जबकि चौथे को नाबालिग होने की वजह से छोड़ दिया। पुलिस हाजी याकूब कुरैशी के घर की ओर बढ़ी, तो भीड़ ने घेराव कर लिया। भीड़ हिरासत में लिए युवक फैराज को छोडऩे का दबाव बनाने लगी तो पुलिस को लौटना पड़ा। इससे पहले सोमवार की स्कूल परिसर में हुई वारदात के विरोध में अभिभावकों ने मेरठ पब्लिक गल्र्स स्कूल में प्रदर्शन कर बच्चों की सुरक्षा पर सवाल खड़े किए। अभिभावकों, भाजपा नेताओं और हिंदूवादी संगठनों के प्रदर्शन के कारण स्कूल प्रशासन ने तत्काल तीन छात्राओं रमशा, इलमा और अलीशा की टीसी काट दी। साथ ही तहरीर भी सदर थाने में दे दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर सात जुलाई से 11 जुलाई तक की सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में ले लिया।

वेस्ट एंड रोड स्थित मेरठ पब्लिक स्कूल फॉर गल्र्स में सोमवार सुबह दर्जन भर लोगों के साथ पहुंची पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी की बेटी आशमा ने कक्षा आठ की छात्रा अलीशा को चाबुक से पीटा था। पीटने की वजह यह थी कि उसने शिक्षिकाओं को रमशा और इलमा के स्कूल बंक करने के बारे में बता दिया था। उसे बचाने पर शिक्षिकाओं से भी अभद्रता की गई थी।

सोमवार की घटना में मेरठ पब्लिक स्कूल मेन विंग की ड्रेस में कुछ छात्र भी सीसीटीवी कैमरे में नजर आ रहे हैं। प्रधानाचार्य संजीव अग्रवाल ने कहा कि इनकी टीसी भी काटी जाएगी। अलीशा और इलमा नाम की जिन छात्राओं को चाबुक से पीटा गया था,वह मंगलवार को स्कूल नहीं आईं। बताया कि किस तरह सोमवार को याकूब की बेटी आशमा जबरन क्लास में घुसी और चाबुक से अलीशा को पीटने के बाद इलमा पर चाबुक बरसाना शुरू कर दिया। पढ़ा रही शिक्षिका ममता कपूर ने रोकने की कोशिश की तो उन्हें धक्का देकर बाहर कर दिया। एमपीजीएस की घटना को लेकर बुधवार को विद्या नॉलेज पार्क में तीनों सहोदय से जुड़े स्कूल प्रबंधक व प्रधानाचार्यों की बैठक दोपहर दो बजे बुलाई गई है। बैठक में सभी स्कूलों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है।

हाजी याकूब की बेटी द्वारा चाबुक से मारपीट के मामले में बसपा में हलचल तेज हो गयी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक सुप्रीमो मायावती ने रिपोर्ट तलब कर ली है।