मुख्यमंत्री योगी ने सभी मंत्रियों को सुबह साढ़े नौ बजे दफ्तर पहुंचने के निर्देश दिए

12
SHARE

योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले मंत्रियों से सुशासन के लिए आचरण और व्यवहार के साथ समयबद्ध होने पर जोर दिया है। लोकभवन में शाम को अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों को उन्होंने सुबह साढ़े नौ बजे दफ्तर पहुंचने के निर्देश दिए। कहा कि कार्यभार संभालने के बाद साढ़े दस बजे तक स्वच्छता के लिए शपथ लें और यह सुनिश्चित कर लें कि अपने घर से कोई आदेश जारी नहीं करेंगे।

योगी ने लोकभवन के सभागार में सभी मंत्रियों के विभागों की घोषणा की। उनके साथ उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने पिछले 15 वर्षों में उत्तर प्रदेश की बिगड़ी व्यवस्था को पटरी पर लाने का आह्वान किया। मंत्रियों की क्लास में योगी ने यह संकेत दे दिया कि आने वाले समय में बायोमीट्रिक प्रणाली और सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसमें समय जरूर लगेगा लेकिन कुछ चीजों की शुरुआत हम स्वयं से कर सकते हैं। मुख्यमंत्री की बैठक समाप्त होने के बाद प्रदेश सरकार के प्रवक्ता तथा ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लोकभवन के मीडिया सेंटर में पत्रकारों को मुख्यमंत्री के दिशा निर्देशों का ब्यौरा दिया।

प्रवक्ता द्वय ने बताया कि मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों से फाइल इंडेक्स बनाने की अपेक्षा के साथ सात दिनों के भीतर संबंधित विषयों के निस्तारण की भी हिदायत दी है। कहा कि मंत्री यह लिखें कि कब किस अफसर के यहां फाइल गयी है। अगर कहीं कोताही बरती जा रही है तो अफसर के खिलाफ कार्रवाई भी करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ता ही नहीं बल्कि अफसरों को भी शालीन और संयमित होना चाहिए। भाजपा औरों से अलग है इसलिए व्यवहार गरिमापूर्ण होना चाहिए। अफसरों में अगर कोई गड़बड़ी है तो पीठ थपथपाकर सुधार करना होगा। जनादेश सर्वांगीण विकास का मिला है इसलिए सभी मंत्री अपने मंत्रालय में समय देकर बेहतर प्रस्तुतीकरण करें और संकल्प पथ पर आगे बढ़ें। उन्होंने संकल्प पत्र पर तेज गति से काम की अपेक्षा की है। खासतौर पर जनता से जुड़े कार्यों को गति देने को कहा है।

हूटर न बजाएं मंत्री
योगी ने कहा कि इस सरकार के मंत्री पूर्ववर्ती सरकारों के मंत्रियों की तरह आचरण-व्यवहार न करें। योगी ने अपेक्षा की कि मंत्री हूटर न बजाएं तो अच्छा होगा। ध्वनि प्रदूषण रोकना भी स्वच्छता अभियान का अनिवार्य अंग है।

कानून का डंडा दिखाकर कोई गलत न करे
अवैध बूचड़खानों पर हो रही धड़ाधड़ कार्रवाई की मीडिया रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए सीएम ने मंत्रियों को सजग किया। कहा, कानून के तहत सबको काम करना होगा। कानून का डंडा दिखाकर अगर कोई गलत काम करेगा तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। उन्होंने यह साफ कर दिया कि लाइसेंस लेकर जो स्लाटर हाऊस चल रहे हैं उन्हेें नियम का पालन करना होगा। अफसर देखें कि नियम का पालन हो रहा है कि नहीं। अवैध बूचड़खानों पर सख्त कार्रवाई की जाए।

एंटी रोमियो दल किसी मासूम को न करे तंग
प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि एंटी रोमियो स्क्वाड के नाम पर पार्क में बैठे छात्र-छात्रा या किसी युगल को तंग न किया जाए। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि थाना स्तर पर बनने वाला यह स्क्वाड महिलाओं और छात्राओं से छेड़छाड़ करने वालों पर कार्रवाई के लिए है। सादी वर्दी में सुरक्षाकर्मी यह ध्यान रखें कि हर महिला और छात्रा रात्रि को भी सुरक्षित घर पहुंच सके। अपराधियों में खौफ के लिए पुलिस रात को गश्त करे ताकि कहीं कोई घटना न हो।