तीन तलाक रुढ़िवादी व्यवस्था, समाप्त होना चाहिए, मुस्लिम महिलाओं को भी जीने का अधिकार: CM

67
SHARE

तीन तलाक के मुद्दे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यह एक रुढ़िवादी प्रथा है जिसे खत्म होना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनके आवास पर रोज कई मुस्लिम महिलाएं अपनी फरियाद लेकर आती हैं और सभी की एक ही शिकायत रहती है कि पति ने तीन तलाक बोलकर छोड़ दिया है। इसलिए प्रदेश सरकार भी इस कुप्रथा को समाप्त करने की पहल करेगी। मुख्यमंत्री मंगलवार को एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में मीडिया के सवालों का जवाब दे रहे थे।

सरकार मुस्लिम महिलाओं की अर्जियों को एकत्र करके सुप्रीम कोर्ट को सौंप देगी। तीन तलाक पर सरकार के नजरिए के बारे में पूछने पर मुख्यमंत्री ने कहा, एक तरफ तो महिलाओं को सशक्त बनाने की बात कही जा रही है, वहीं तीन तलाक बोलकर एक बड़े तबके में महिलाओं को उनके अधिकार से वंचित किया जा रहा है। यह एक रुढ़िवादी व्यवस्था है जिसे समाप्त होना चाहिए।

उन्होंने कहा, जनता दर्शन के दौरान रोज 25 से 30 मुस्लिम महिलाएं उनसे मिलती हैं। सबकी पीड़ा बस एक है कि उनके पति ने तीन तलाक बोलकर छोड़ दिया है।

सीएम ने कहा, अन्य समुदाय की महिलाओं की तरह मुस्लिम महिलाओं को भी सम्मान से जीने का अधिकार है, इसलिए इस कुप्रथा को समाप्त करने के लिए उनकी सरकार भी पहल करेगी। कहा, यह मुद्दा सिर्फ मुस्लिम महिलाएं ही नहीं बल्कि सभी महिलाओं के अस्तित्व से जुड़ा है। इसलिए प्रदेश सरकार चाहती है कि सभी वर्ग की महिलाओं को उनका अधिकार मिले।