हमीरपुर में दूल्हे को मंडप से उठाने वाली लड़की गिरफ्तार

84
SHARE

यूपी के हमीरपुर में एक शादी के दौरान दूल्हे को मंडप से ले जाने वाली गर्लफ्रेंड को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि, लड़की ने इस आरोप को झूठा बताया है कि उसने गन दिखाकर दूल्हे को मंडप से किडनैप किया था। वहीं, उसके प्रेमी को भी पुल‍िस ने बांदा में उसके गांव स्थ‍ित घर से ढूंढ ल‍िया है। पुलिस उसे हमीरपुर लेकर आ रही है।

मामला मामला हमीरपुर जिले के मौदहा थाना एरिया का है। पुलिस ने लड़की नेहा (बदला हुआ नाम) को बुधवार रात अरेस्ट किया। पूछताछ में उसने बताया, ”मैं अशोक को 8 साल से जानती हूं। वो जो ये बोल रहे हैं कि मैं गन लेकर मंडप में गई थी, तो मैं गन-वन लेकर नहीं गई थी। मेरे साथ अशोक का दोस्त राहुल गया था। वहां पहुंचने के बाद हम देख रहे थे कि अशोक कहां पर है। जब वो नहीं मिला तो वहां बच्चों से पूछा कि अशोक कहां है। बच्चों ने बताया कि वो गाड़ी में आराम कर रहे हैं। उधर गए तो पहले से ही अशोक का चेहरा उतरा हुआ था, क्योंकि उसके मन से शादी नहीं हो रही थी। उसका शादी करने का कोई मूड नहीं था।”

अशोक ने अपने घर परिवार में सबसे कहा था। लड़की वालों को भी पता था कि लड़का किसी और से प्यार करता है, लेकिन लड़की वालों ने कहा कि हमारी लड़की संभाल लेगी। लेकिन वो (अशोक) शादी करने को तैयार नहीं था। फिर मैंने वहां सिर्फ कार का शीशा खटखटाया, वो अपने आप आ गया। हम पिस्टल लेकर नहीं गए थे। ये सब झूठ है।”

नेहा ने बताया, ”मैंने कहा था कि मैं शादी नहीं करने दूंगी, लेकिन अशोक को ये नहीं बताया था कि मैं आ रही हूं। उसे इस बारे में कुछ नहीं पता था। वहां से हम साथ में आए और मैंने अशोक को बांदा में छोड़ दिया था। इसके बाद वो कहां गया, मुझे नहीं मालूम है। उसी दिन कोर्ट मैरिज करनी थी, लेकिन मेरे पास कागज नहीं थे, इसलिए नहीं की।”

15 मई को सियाराम की बेटी चंदा (दोनों बदला हुआ नाम) की बांदा जिले के मटौंध निवासी रामहेत यादव के बेटे अशोक से शादी होनी थी। तय प्रोग्राम के मुताबिक बरात आई और जयमाल भी हो गया।

आरोप है कि इसके बाद जैसे ही 7 फेरों की तैयारी शुरू हुई, अचानक विवाह स्थल के पास कारों का काफिला आकर रुका। इसमें सवार लोग असलहों के साथ आए थे। कार से एक लड़की हाथ में पिस्टल लेकर निकली और सीधे मंडप के पास जा पहुंची। वो अशोक को खींचते हुए अपने साथ लाई और साथि‍यों की मदद से उसे कार में बैठाकर फरार हो गई।

घटना के बाद पता चला था कि अशोक को ले जाने वाली उसकी गर्लफ्रेंड नेहा बांदा में जॉब करती है। उसके पिता गोपालदास होशंगाबाद में जॉब करते हैं। मध्य प्रदेश के छतरपुर की रहने वाली नेहा अपनी बहन और मां के साथ बांदा में रहती है और बीए फाइनल ईयर की स्टूडेंट है। उसका अशोक के साथ लंबे समय से अफेयर चल रहा था। अशोक भी बांदा में जॉब करता है।

घटना के बाद अशोक की होने वाली पत्नी चंदा ने बताया, ”ये सब कब और कैसे हो गया, कुछ समझ में ही नहीं आया। अगर लड़के का किसी और लड़की से अफेयर था और उसके घर वालों को ये बात पता थी तो हमारे साथ धोखा क्यों किया गया?” वहीं, दुल्हन के पिता सियाराम ने कहा, ”रस्में चल रही थीं। जयमाल हो चुका था। फेरे की तैयारी चल ही रही थी, तभी ये घटना हो गई। घटना के बाद से मेरी बेटी सदमे में है। पूरा परिवार परेशान है।”

बांदा के सीओ सिटी आर के मिश्रा ने बताया, ”मंडप से अपने साथियों की मदद से दूल्हे को किडनैप करने वाली लड़की को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच चल रही है। जल्द ही दूल्हे को पकड़ लिया जाएगा।”