गाजियाबाद में पत्रकार का बड़ा खुलासा, मेरे पास छत्तीसगढ़ के मंत्री की सेक्स सीडी, गिरफ्तार

67
SHARE

छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा गाजियाबाद के इंदिरापुरम से वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को हिरासत में लेने के बाद मीडिया जगत में हड़कंप मचा हुआ है। छत्तीसगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस के साथ मिल कर यह गिरफ्तारी की है।

छत्तीसगढ़ पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार विनोद वर्मा के खिलाफ राज्य में मामला दर्ज है। वहीं विनोद का कहना है कि उन्हें फंसाया जा रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार मुझसे खुश नहीं है। मेरे पास सिर्फ पैन ड्राइव मिला है। पुलिस मुझे फंसा रही है।

पत्रकार विनोद वर्मा ने एएनआई से कहा कि मेरे पास छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत की एक सेक्स सीडी है। यही वजह है कि छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार मुझसे नाराज है। उन्होंने दोहराया कि उन्हें फंसाया जा रहा है।

वहीं, इस पूरे मामले में छत्तीसगढ़ के लोक निर्माण विभाग के मंत्री राजेश मूणत मीडिया के सामने आए। उन्होंने पत्रकार वार्ता में कहा कि यह सीडी पूरी तरह से फर्जी है। इसकी पूरी जांच होनी चाहिए।

मंत्री ने सफाई देते हुए कहा कि इस सीडी से उनका कोई लेना-देना नहीं है। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें किसी ने ब्लैकमेल नहीं किया है।

बताया गया है कि पत्रकार विनोद वर्मा को इंदिरापुरम पुलिस थाने से गाजियाबाद सीजीएम कोर्ट के लिए लेकर रवाना हो गई है। उऩ्हेें यहां पेश किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि देश के नामी मीडिया संस्थानों को अपनी सेवाएं देने वाले विनोद वर्मा पर रंगदारी और धमकाने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। जानकारी के मुताबिक, वर्तमान में विनोद छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के सोशल मीडिया प्रभारी हैं।

पुलिस सूत्रों की मानें तो विनोद वर्मा के पास से एक सीडी बरामद बरामद हुई है। इसे छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी भाजपा के किसी कद्दावर नेता की अश्लील सीडी बताया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, विनोद वर्मा ने 1000 सीडी बनवाई हैं। रायपुर पुलिस का कहना है कि जांच जारी है। ऐसे में मामले का खुलासा नहीं कर सकते।

इसी आधार पर जब विनोद वर्मा के घर छापा मारा गया तो वहां से 500 सीडी और पेन ड्राइव जब्त की गई। पुलिस के मुताबिक, विनोद वर्मा के पास से एक लैपटॉप और डायरी भी जब्त की गई है।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने इसे लोकतंत्र पर हमला बताया है। भूपेश के मुताबिक, सीडी पब्लिक डोमेन में है, खुद उनके पास भी यह सीडी है।

विनोद वर्मा की गिरफ्तारी की निंदा आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने भी की है। टीवी पत्रकार रहे आशुतोष ने ट्वीट किया- ‘सुबह के 3.30 बजे रहस्यमयी परिस्थितियों में पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया है?यह प्रेस पर हमला है?

पत्रकार विनोद वर्मा को हिरासत में लेने के पीछे की वजह धमकी और रंगदारी मांगने को बताया जा रहा है। रायपुर पुलिस के मुताबिक, 26 अक्टूबर को प्रकाश बजाज ने पिंडरी थाने में धमकी दिए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी। धमकी में कहा ‘तुम्हारे आका का अश्लील वीडियो हमारे पास है।’ धमकी देने वाले ने पैसे मांगे थे और नहीं देने पर सीडी वितरित करने की धमकी दी थी।