तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर करारा हमला, बोले उनके DNA में है खराबी

37
SHARE

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ आरजेडी की ‘जनादेश अपमान यात्रा’ के दौरान उनके डीएनए पर सवाल उठाया. बेतिया जिले के माधोपुर में अपनी पहली रैली को संबोधित करते हुए तेजस्वी ने कहा कि जिस प्रकार से मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों आरजेडी के साथ गठबंधन तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बना ली है, इससे यह साबित होता है कि उनके डीएनए में खराबी है.

साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नीतीश के डीएनए पर सवाल उठाए जाने का जिक्र करते हुए तेजस्वी ने कहा कि उस वक्त तो नीतीश ने इस अपमान का बदला बिहारवासियों के नाखून और बालों का सैंपल प्रधानमंत्री कार्यालय भेजकर दिया. मगर आज जब उन्होंने भाजपा के साथ फिर से मिलकर सरकार बना ली है, तो इससे साबित होता है कि उनके डीएनए में वाकई कोई खराबी है.

रैली के दौरान तेजस्वी ने खुद को जनता का धर्मपुत्र बताया और इस बात की आशंका जताई कि केंद्र सरकार द्वारा उन्हें या उनके पिता लालू प्रसाद को भ्रष्टाचार के मामले में जेल भेजा जा सकता है. इस वजह से तेजस्वी ने जनता से सवाल किया कि क्या बिहार की जनता उनकी रक्षा करेगी, जिसके जवाब में जनता ने भी हामी भरी.

तेजस्वी ने कहा कि उनके और उनके परिवार वालों के खिलाफ जितने भी भ्रष्टाचार और सीबीआई के मामले चल रहे हैं, वे केंद्र सरकार और नीतीश कुमार की साजिश है. उन्होंने ऐलान किया कि किसी माई के लाल में दम नहीं है, चाहे वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हो या फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जो उन्हें सजा दे सके. तेजस्वी ने कहा कि उनको सजा सिर्फ बिहार की जनता दे सकती है.

बीजेपी पर हमला बोलते हुए तेजस्वी ने कहा कि वे लोग नकली गोरक्षक है. तेजस्वी ने खुद को असली गोरक्षक बताते हुए कहा कि उनके जाति के लोगों के यहां गाय को रखा जाता है. मगर भाजपा के नेताओं के यहां कुत्ता रखा जाता है. रैली के दौरान एक वक्त ऐसा भी आया, जब तेजस्वी ने रैली में मौजूद लोगों से सवाल किया कि क्या वह कोई अपराधी है या फिर उन्होंने कोई घोटाला किया है या फिर दागी है? इस पर जनता ने ना में जवाब दिया.