बीजेपी-जेडीयू के फैसले के बाद तेजस्वी ने उपेंद्र कुशवाहा और चिराग पासवान से की बात

47
SHARE

बिहार में बीजेपी-जेडीयू में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने के फैसले के बाद दो सहयोगियों उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और राम विलास पासवान की लोकजनशक्ति पार्टी की सीटों में कमी पक्की मानी जा रही है और इस बीच बिहार के प्रमुख विपक्षी दल आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने इन नेताओं से संपर्क बढ़ाना तेज कर दिया है। शुक्रवार को बीजेपी जेडीयू की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा से मिलने पहुंच गए। कुशवाहा और तेजस्वी प्रसाद यादव के बीच बिहार के अरवल में मुलाकात हुई, तेजस्वी ने इसकी तस्वीरें भी शेयर कीं।

सूत्रों के अनुसार कम सीट मिलने की स्थिति में उपेंद्र कुशवाहा ने दोनों विकल्प खुले रहने के संकेत दिए हैं, हालांकि उपेंद्र कुशवाहा ने बयान दिया कि तेजस्वी से उनकी मुलाकात संयोग मात्र है क्योंकि संयोग से ही दोनों एक ही जगह रुके हुए थे। उन्होंने ये भी कहा कि वह 2019 में भी नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं।

उधर तेजस्वी यादव ने इस मुलाकात के बाद कहा कि एनडीए में उपेंद्र कुशवाहा और रामविलास पासवान दोनों का ही अपमान हो रहा है और दोनों को ही अपने बारे में फैसला लेना होगा। बताते चलें कि उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी के लिए तेजस्वी ने पहले भी गठबंधन की पेशकश की हुई है।

यह भी पढ़ें-बीजेपी-जेडीयू के फैसले के बाद तेजस्वी ने उपेंद्र कुशवाहा और चिराग पासवान से की बात

आरजेडी का दावा था कि तेजस्वी ने चिराग पासवान से भी मुलाकात की है हालांकि इस बातचीत के बारे में चिराग पासवान ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। चिराग पासवान का बयान सामने आया है कि गठबंधन के लिए अगर सबको कुछ समझौता करना पड़ता है तो इसमें कोई हर्ज नहीं, यानी उनकी पार्टी को सीटों का नुकसान होता है तो भी एनडीए में ही रहने के पक्षधर हैं।