गोरखपुर और फूलपुर के परिणाम सरकार को रिटर्न गिफ्ट: अखिलेश यादव

123
SHARE

शनिवार को योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के दामाद दामाद डॉ. नवल किशोर शाक्य समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज पार्टी मुख्यालय पर गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में जीत के लिए बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की, इस दौरान उन्होंने कहा कि उपचुनाव से सपा की जीत का फायदा ये हुआ कि अब उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री विकास की बात करने लगे हैं। पहले उनकी सोच अलग दिशा में जा रही थी। उन्होंने कहा कि बीटीसी छात्रों को नियुक्ति इसलिए नहीं मिल रही क्योंकि वे सपा सरकार में नौकरी मिली थी। सरकार छात्रों को मार रही है। यह क्या है? लोगों को कम से कम रोजगार तो दो बच्चों के भविष्य को जांच के नाम पर अंधकार में क्यों रख रहे हैं।

डॉ. नवल किशोर शाक्य कैंसर विशेषज्ञ हैं। जब स्वामी प्रसाद मौर्य बसपा में उस उन्होंने बसपा की सदस्याता ली थी। इससे पहले फरवरी में मौर्य के भतीजे सपा का दामन थाम चुके हैं। पार्टी में शामिल होने पर उनके भतीजे ने कहा था, ‘भाजपा में शोषण होता रहा तो चाचा भी यहीं आ जाएंगे।’

अखिलेश यादव ने कहा कि 2019 में कौन कितनी सीटें जीतेगा वो अलग बात है। अब यूपी के मुख्यमंत्री विकास की तरफ जाने लगे हैं। अब वो स्टैंडअप स्टार्ट-अप की बात कर रहे हैं। सपा और बसपा के बीच 2019 में गठबंधन होगा या नहीं के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी इस बारे में कोई बात नहीं कहूंगा। लेकिन वक्त आने पर बता दिया जाएगा की क्या होगा। सरकार के एक साल पूरे होने पर अखिलेश ने कहा कि जनना ने गोरखपुर और फूलपुर की के परिणामों से सरकार को एक साल का रिटर्न गिफ्ट दे दिया है। Evm से जो गुस्सा निकलना चाहिए वो नहीं निकल पा रहा जो बैलेट से गुस्सा निकलता है।