सुशील कुमार मोदी ने लालू के बेटियों पर लगाया घोटाले का गंभीर आरोप

9
SHARE

मॉल और मिट्टी घोटाले के आरोपों के बाद अब लालू प्रसाद यादव पर घोटाले का एक और नया आरोप लगा है. ताज़ा आरोप लगाने वाले भी बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ही हैं. इस बार सुशील मोदी ने लालू यादव और उनके परिवार पर काम कराने के बदले जमीने हड़पने का बड़ा गंभीर आरोप लगाया है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने लालू यादव और उनके परिवार पर घोटाले का एक और सनसनीखेज़ आरोप लगाया है कि लालू यादव ने काम कराने की एवज में लोगों से करोड़ों की ज़मीनें अपने परिवार के नाम करायी हैं.

सुशील यादव ने कहा, “‘तुम मुझे ज़मीन दो, मैं तुम्हारा काम करूंगा, लालू जी इसी मोडस अपरेंडी पर काम कर रहे थे. रेलवे में जितने लोग नौकरी दिलवाए उनसे जमीन लिखवा लिया. जितनों की मदद की उनसे जमीन लिखवा लिया. शायद देश का पहला राजनीतिज्ञ होगा जो काम के पहले या काम के बाद काम करूंगा जमीन लिख दो.”

सुशील मोदी का आरोप है कि राबड़ी देवी जब मुख्यमंत्री थी तब पटना में शराब की एक फैक्ट्री खुली, फैक्ट्री खोलने में मालिक कत्याल परिवार की लालू के परिवार ने मदद की, जिसके एवज़ में उन्होंने पटना शहर में करोड़ों की ज़मीन अपने परिवार के नाम करा लीं.

सुशील मोदी के मुताबिक, ”एक एके इंफोसिस्टम प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी बनायी गयी, उस कंपनी ने ज़मीन खरीदी. उस कंपनी के प्रोमोटर्स कत्याल परिवार था. बाद में धीरे-धीरे लालू का परिवार उस कंपनी के प्रोमोटर्स और शेयर होल्डर्स हो गए, और कत्याल परिवार अब ना तो शेयर होल्डिंग है उनके पास और ना ही डायरेक्टर्स हैं. आज की डेट में चंदा यादव और रागिनी लालू, लालू जी की दोनों बेटियां डायरेक्टर्स हैं और राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव दोनों के पास 100 प्रतिशत शेयर होल्डिंग है.”

सुशील मोदी के दिए इन दस्तावेज़ों में से साफ हैं कि कंपनी के सारे शेयर लालू परिवार को ट्रांसफर कर दिए गए, यही नहीं इन दस्तावेज़ों में 2014 तक कंपनी का पता 1 अणे मार्ग यानि मुख्यमंत्री आवास दिखाया गया है, जिस पर काउंटर साइन तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव का है, जबकि 2006 में ही लालू यादव सीएम हाउस खाली कर चुके हैं.