लखनऊ में 15 हजार का इनामी बदमाश एनकाउंटर में मारा गया

235
SHARE

शुक्रवार सुबह लखनऊ पुलिस ने गोमतीनगर विस्‍तार में पार्षद की हत्‍या समेत 302 के कई मामलों में जेल से फरार बदमाश सुनील शर्मा को मुठभेड़ में मार गिराया। सुनील शर्मा आठ अगस्‍त को कोर्ट में पेशी के दौरान पुलिस कस्‍टडी से भाग निकला था। सुनील ने 2013 में लखनऊ कैंट के पार्षद श्याम नारायण पांडेय की हत्या की थी। गिरफ्तारी के बाद उसे हरदोई जेल भेजा गया था।

इस कुख्यात अपराधी का व्यापारियों से वसूली का बड़ा आतंक था। इसके डर से कोर्ट में इसके विरुद्ध मुकदमो में गवाह गवाही देने तक नहीं आते थे। सलीम रुस्तम सोहराब गैंग का यह शार्प शूटर था। हत्या करना उसके ल‌िए बच्चों का खेल था। इस अपराधी पर 15000 रुपये का इनाम घोषित था।

सूत्रों के मुताबिक आज सुबह पुलिस को इस अपराधी के गोमतीनगर में होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद इंस्‍पेक्‍टर डीके शाही, आनंद शाही और गिरिजा शंकर त्रिपाठी की टीम ने घेरेबंदी कर कार्रवाई शुरू की।

पुल‌िस को देखते ही ये साथी के साथ बाइक लेकर भागने लगा। पुल‌िस पीछे आई तो उसने फायर कर द‌िया। पुल‌िस ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें उसे गोली लग गई। घायल अपराधी को अस्‍पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। सुनील ने कृष्णानगर के कारोबारी अजय रस्तोगी से 20 लाख की रंगदारी मांगी थी।

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया क‌ि सुनील रुस्तम सोहराब गैंग का सबसे बड़ा शार्प शूटर था। एक महीने पहले कचहरी से फरार हो गया था। इस पर 15 हजार का इनाम था। ये लोगों से करोड़ों की रंगदारी वसूल कर चुका था। आज एनकाउंटर के दौरान उसे सीने में गोली लगी थी, हॉस्प‌िटल में मौत हो गई।