बेटी के साथ छेड़छाड़ के विरोध में बाप का हुआ ये हाल, पढ़ें पूरा मामला

17
SHARE

सुलतानपुर. यूपी के सुल्तानपुर में दबंगों ने दलित की बेटी के साथ छेड़छाड़ किया पिता ने विरोध किया
तो उसको पीट डाला। दबंगों की पिटाई से लहूलुहान दलित 13 दिनों से अधिक समय तक अस्पताल में दर्द से कराहता रहा, आखिर में गम्भीर चोट आने के कारण उसने जिंदगी की आखरी सांस लेते हुए दम तोड़ दिया।

ये है पूरा मामला
ये सनसनीखेज मामला जनपद के
हलियापुर थाने से जुड़ा है।
थाना क्षेत्र के कोटवा गांव निवासी
दलित ह्रदयराम की बेटी बीते 21 मार्च को खेत में जानवरों का चारा लाने के लिए गई थी।
जहाँ उसके साथ गाँव के ही एक लड़के ने छेड़छाड़ किया।
जैसे-तैसे इज्ज़त बचाकर लड़की वहां से भागी और घर पहुँची।
घर आकर उसने परिजनों को घटना की आप बीती सुनाया।

पिटाई से कोमा में पहुँचा पीडिता का पिता
बेटी के साथ इस प्रकार के दुर्व्यवहार से आक्रोशित परिजन आरोपी लड़के के दरवाजे पर शिकायत लेकर पहुँच गए।
ये बात आरोपी व उसके परिजनों को अखर गई।
इसके परिणाम में छेड़छाड़ करने वाले आरोपी व उसके सहयोगियो ने शिकायत करने गये लोगों को  जमकर पीटा।
जिसमें पीडिता के पिता ह्रदयराम को गम्भीर चोटें आई और दबंगों की पिटाई से वो कोमा में चला गया।

13 दिन बाद बाप ने तोड़ा दम
परिजनों ने कुछ लोगों के सहयोग से घायल ह्रदयराम को जिला अस्पताल में भर्ती कराया।
इलाज के दौरान उसकी बीते रविवार की शाम मौत हो गई।
ह्रदयराम की मौत के बाद सूचना पर पहुँची पुलिस ने देर रात शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा
वही पुलिस ने उक्त दोनों मामलों में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
इस बाबत जानकारी करने पर सीओ बल्दीराय तौकीर अहमद ने बताया कि मामले में मृतक के भाई राम कृपाल की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
पूरे मामले की जाँच जारी है क्योंकि मामला थोड़ा संदिग्ध है।
उक्त मामले में अब तक परिजनों और कुछ गाँव वालों के बयान दर्ज किए गए हैं जिसमें मृतक की लड़की आदि के खिलाफ कुछ बातें प्रकाश में आई हैं।
इसलिए पुलिस मामले की निष्पक्ष जाँच कर रही है ताकि कोई निर्दोष मामले में फंसने न पाए।