एक साथ 39 मकान धू-धू कर जले, लाखों का नुकसान

14
SHARE
सुलतानपुर. उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर के बल्दीराय तहसील में रामपुर थुआ मजरे हेमनापुर गांव की निषाद बस्ती उजड़ कर रह गई। यहां भंडारे का एक कार्यक्रम आयोजित था। जिसमें चूल्हे की आग इस तरह फैली के उसने आसपास के पक्के, मिट्टी के कच्चे और झोपडी नुमा 39 मकानों को अपनी गिरफ्त में ले लिया। इसमें जहां लाखों की सम्पत्ति जलकर खाक हुई वहीं एक जानवर की भी जान चली गई। इस ख़बर के मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुँचे हैं। *हादसा ऐसे आया पेश*
जानकारी के अनुसार बल्दीराय तहसील  के रामपुर थुआ मजरे हेमनापुर गांव मे दोपहर दिन में  रामदेव निषाद के घर गया जगन्नाथ का भण्डारा था।
भोज को लेकर छप्पर के नीचे भोजन तैयार हो रहा था, एकाएक चिन्गारी से उसी छपर मे आग लगी जिस छप्पर के नीचे भोजन तैयार हो रहा था।
तेज हवा होने के कारण काफी प्रयास के बाद भी आग बढती गई।
देखते ही देखते आसपास के घरो को आग की लपको ने चपेट मे ले लिया । घटना मे 39 घर आग की भेट चढ गये,अग्निकाण्ड में कई लाखो का नुकसान हुआ है।
*बेटी के दहेज का सामान भी जलकर हुआ राख*
ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस और फायर सर्विस को दिया।
मौके पर पहुँची फायर सर्विस की टीम ग्रामीणों की मदद से चार घन्टे के बाद   आग पर काबू पा सकी।
इसमें जग नरायन की एक बकरी के जल जाने से मौत हो गयी।
वहीं गाँव की प्रभावती की लड़की की शादी अगले महीने में थी।
लड़की के दहेज़ का सामान घर में रखा था लेकिन अब दहेज़ का सारा सामान जल कर खाक हो गया।
*इनका जला मकान हुआ नुकसान*
अग्निकाण्ड मे देवीदीन पाण्डेय की मोटर साईकल जल गई।
जबकि घटना मे राधुनाथ, हरि नरायन, जग नरायन, बल राम, महेगू, राम लौट, पतरका, कुन्ना, राम कली, राम मूरत, मुन्नी लाल, पंचम,हेमराज , सुरेश, राम बहादुर, श्याम कला, कुन्ने, कलाबू, सीता पती, जग्गी, ललितादेवी, राम किसुन ,कृष्णा दीन, हीरा लाल, रामवती,सुरेन्द्र, हौसिला, गंगा देवी,अमृता देवी, हरि प्रसाद, देवी दीन पाण्डे सहित 39 घर आग की भेंट चढे है।
*मौके पर पहुँचे ये अधिकारी दिलाया मदद*
घटना की सूचना पर बल्दीराय तहसीलदार बीपी सिंह, थाना प्रभारी केबी सिंह, कानूनगो देवी प्रसाद, लेखपाल त्रिलोकी मौके पर पहुँचे। घटना स्थल का ज्याजा लिया।
इस बाबत बल्दीराय तहसीलदार बीपी सिंह ने बताया कि पीडित गाँव वालों को राहत सामग्री मुहैया करा दिया गया है।
शासन को घटना की रिपोर्ट भेजी जा रही है, जल्द ही आपदा कोष इन्हें मुआवजा दिलाया जाएगा।