लखनऊ यूनिवर्सिटी में CM योगी को समाजवादी छात्र-छात्राओं ने काले झंडे दि‍खाए, मुर्दाबाद के नारे, आठ हिरासत में

111
SHARE

हिंदवी स्वराज दिवस के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ लखनऊ यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में शि‍रकत करने पहुंचे। कार्यक्रम को संबोधि‍त करते हुए कहा, जब मैं आ रहा था तो कुछ छात्र इसका विरोध कर रहे थे कि हिंदवी स्वराज नाम क्यों रखा गया। योगी ने कहा, जो इतिहास नहीं जानता वो भूगोल की रक्षा नहीं कर सकता, ये उनकी मानसिकता दि‍खा रही है। बता दें, सीएम का काफि‍ला यूनिवर्सिटी पहुंचते ही समाजवादी छात्र सभा के कुछ छात्र-छात्राओं ने काले झंडे दि‍खाए और मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लिया है।

लखनऊ यूनिवर्सिटी में बुधवार को छत्रपति शिवाजी महाराज की याद में हिंदवी स्वराज्य दिवस समारोह आयोजित किया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ प्रोग्राम में चीफ गेस्ट थे। उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा का माल्यापर्ण कर प्रोग्राम की शुरुआत की। यूपी के राज्यपाल राम नाईक, डिप्टी सीएम प्रो.दिनेश शर्मा, उत्तराखंड के पूर्व सीएम भगत सिंह कोशियारी भी प्रोग्राम में मौजूद रहे।

योगी ने कहा, छत्रपति शिवाजी महाराज महान थे। औरंगजेब महान नहीं था। कुछ वामपंथी विचारधारा के लोग हिंदवी स्वराज्य दिवस प्रोग्राम का विरोध कर रहे है। ये ठीक बात नहीं है। कुछ इतिहासकारों ने हमारे देश में रहते हुए देश का जूठन खाकर हमारे देश के इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश किया है।शैक्षिक संस्थानों में वामपंथी विचारधारा को बढ़ने से रोकने की जरूरत है। मराठी भाषा के प्रचार प्रसार के लिए एलयू में एक बेंच की स्थापना की जाएगी। वामपंथी विचारधारा के लोगों ने हमेशा ही देश की एकता और अखंडता को तोड़ने की कोशिश की है। देश की एकता और अखंडता को तोड़ने की कोशिश करने वाले लोगों के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड एक दूसरे से अलग भले हुए हैं, लेकिन ये दोनों आपस मे जुड़वा भाई की तरह है। केंद्र में मोदी और राज्य में योगी के आने से देश में राम राज्य आएगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ के काफि‍ले पर एलयू के बाहर कुछ समाजवादी छात्र सभा के स्टूडेंट्स ने काले झंडे दिखाने की कोशिश की। तभी मौके पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें हिरासत में ले लिया। बाद में पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया। योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम में बोलते हुए उन स्टूडेंट्स का भी जिक्र किया, जिन्होंने काले झंडे दिखाने की कोशिश की थी। सीएम ने कहा, इस तरह का विरोध करना सही बात नहीं है। शैक्षिक संस्थानों में कुछ वामपंथी विचारधारा के स्टूडेंस सक्रिय हैं, जो इस तरह की हरकत कर रहे है। उन पर रोक लगाए जाने की जरूरत है।