अखिलेश यादव ने बढ़ाई बीजेपी की परेशानी, कहा गठबंधन के लिए दो कदम पीछे हटने को भी तैयार

अखिलेश यादव ने मायावती को संदेश दे दिया है कि गठबंधन के लिए वह समझौते को तैयार हैं

67
SHARE

रविवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती के इस बयान के बाद कि गठबंधन में सम्मानजनक सीटें मिलेंगी तो ठीक वरना बीएसपी अकेले लड़ेगी से बीजेपी खेमे में खुशी की लहर दौड़ गई थी। पार्टी लगातार कहती रही है कि गठबंधन बन ही नहीं पाएगा क्योंकि ये आपस में ही लड़ते रहेंगे लेकिन , बीजेपी की इस खुशी को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ज्यादा देर तक बरकरार नहीं रहने दिया है।

अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए गठबंधन जरूरी है और इसके लिए वह दो कदम पीछे भी हट सकते हैं। यानी अगर सीटों को लेकर अखिलेश विवाद समझौता करने के लिए तैयार हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि वह मायावतीजी के लगातार संपर्क में हैं और एक अहम गठबंधन बनाने के लिए सहायक भूमिका निभाना चाहते हैं।

अखिलेश यादव ने सभी विपक्षी पार्टियों से एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि बीजेपी को अगर उत्तर प्रदेश में पराजित कर दिया जाता है तो उसे केंद्र में फिर से सत्ता में आने से रोका जा सकता है। समाजवादी पार्टी प्रमुख ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बीजेपी के 50 साल तक शासन करने के दावे पर तंज कसते हुए यादव ने कहा कि 50 साल भूल जाइए, लोग 50 हफ्तों में अपना फैसला देंगे।

दिल्ली में एक टीवी चैनल के कॉन्क्लेव में अखिलेश यादव ने कहा कि यह कांग्रेस की बड़ी जिम्मेदारी है और उसे सबको साथ लेकर बड़े दिल का प्रदर्शन करना चाहिए। उसे विपक्ष के सभी दलों से चर्चा करनी चाहिए, विपक्ष लोक सभा चुनाव के बाद अपना नेता चुनेगा और इसे बीजेपी को हराने के बड़े लक्ष्य को हासिल करने के लिए अपने मतभेदों को एक तरफ रखना चाहिए। अखिलेश यादव ने कांग्रेस के भी एसपी-बीएसपी के साथ गठबंधन का हिस्सा होने की बात इस कॉन्क्लेव से एक दिन पहले ही की थी।