सड़क हादसो में संवेदनशीलता दिखाएं, घायलों की वीडियो बनाने के बजाय तुरंत अस्पताल ले जाएं: यूपी सरकार

30
SHARE

उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि पिछले साल उत्तर प्रदेश में 5000 हत्याएं हुई हैं, जबकि 19 हजार लोग सड़क हादसों में मारे गए हैं. अगर सड़क हादसों के शिकार हुए लोगों को तुरंत अस्पताल ले जाया जाता तो इनमें से कई लोगों की जान बच जाती.

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने बताया कि शनिवार को जब वह एक कार्यक्रम में शामिल होने कानपुर जा रहे थे तब उन्होंने एक सड़क हादसा देखा. उन्होंने बताया कि एक कार और एक टेंपो की टक्कर हो गई थी. 5 लोग लहूलुहान सड़क पर पड़े थे. इसमें एक महिला और एक 5 साल की बच्ची भी थी. उन्होंने कहा कि मैं अपनी कार रुकवाकर वहां उतरा तो मैंने देखा कि घायलों की मदद करने के बजाय करीब 15 लोग अपने मोबाइल फोन से हर एंगल से उनकी वीडियो बना रहे थे. यहीं नहीं मेरे काफिले के आगे चल रही करीब 10 अफसरों की गाड़ियां भी उन्हें देखकर आगे बढ़ चुकी थी. तब मैंने अपने साथ चल रहे एम्बुलेंसऔर अपनी गाड़ियों से उन्हें अस्पताल भेजा और खुद वहां उन्हें भर्ती करवाने गया.

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने जनता से अपील की कि सड़क हादसे के मौके पर संवेदनशीलता दिखाएं और घायलों की वीडियो बनाने के बजाय उनकी जान बचाने के लिए तुरंत अस्पताल ले जाएं.