शरीफ ने बाजवा को बनाया आर्मी चीफ

15
SHARE
पाकिस्तानी मीडिया के रिपोर्ट्स और एक्सपर्ट्स ने रविवार को कहा कि बाजवा को चार सीनियर जनरलों के मुकाबले तवज्जो दिए जाने की यही वजह उनके लो-प्रोफाइल और प्रो-डेमोक्रेसी होने के कारण है। इस बीच, यह भी उम्मीद की जा रही है कि सरताज अजीज के भारत दौरे और बाजवा के चलते भारत के साथ डिप्लोमैटिक लेवल पर दोनों देशों के रिश्ते में सुधार हो सकता है। पाकिस्तान में सैन्य तानाशाह लंबे वक्त तक सत्ता पर काबिज रहे हैं। पाकिस्तान की आर्मी संख्या बल के हिसाब से दुनिया में छठवें नंबर पर है।Sharif made the Army Chief Bajwa
पाकिस्तान के अखबार ‘द न्यूज’ की रिपोर्ट में कहा है कि बाजवा को सिलेक्ट करने का एक ही कारण है उनका प्रो-डेमोक्रेसी होना। शनिवार को ही पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ ने उन्हें राहील शरीफ के बाद आर्मी चीफ बनाने का एलान किया था। राहील शरीफ 29 नवंबर को रिटायर होने वाले हैं।मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो नवाज शरीफ ऐसा आर्मी चीफ चाहते थे जो मिलिट्री एक्सपर्ट होने के साथ ही पाकिस्तान में लोकतंत्र कायम रखने में भरोसा करता हो।
आर्मी चीफ की दौड़ में और चार ऐसे जनरल थे जो बाजवा से सीनियर थे। ये सभी जनरल मिलिट्री अकादमी से एक ही दिन पास आउट हुए थे।  पर लेकिन बाजवा को विभिन्न मोर्चों पर काम करने का लंबा अनुभव रहा है। जनरल बाजवा की क्षमता, विश्वसनीयता, अनुभव और सबसे बड़ी कोर के नेतृत्व करने के चलते उन्हें यह पोस्ट दी गई|
अगले हफ्ते नवाज शरीफ के फॉरेन पॉलिसी एडवाइजर सरताज अजीज भारत दौरे पर आ रहे हैं। हाल के महीनों में ऐसा पहली बार होगा जब इस तनाव के बीच पाकिस्तान का कोई बड़ा रिप्रजेंटेटिव भारत आ रहा है। चूंकि, सुषमा स्वराज बीमार चल रहीं हैं तो अजीज की मुलाकात विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह और एमजे अकबर से तय है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अजीज की मुलाकात नरेंद्र मोदी और एनएसए अजीत डोभाल से भी हो सकती है। अगर ऐसा होता है तो रिश्तों में आई तल्खी में नरमी की उम्मीद की जा सकती है। उड़ी हमले और सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दोनों देशों के रिश्तों में तनाव है। आए दिन सीमा पर सीज फायर हो रहा है। डिप्लोमैटिक लेवल पर दोनों में से किसी भी देश ने रिश्ते तोड़ने की बात नहीं की है। दिल्ली में पाकिस्तानी हाई कमीशन में एक जासूस पकड़ाया था जिसके बाद भारत ने 16 ऐसे अफसरों को पाकिस्तान जाने के लिए कह दिया था। बदले में पाकिस्ता ने भी भारत के 8 अफसरों को वापस भेजने के एलान कर दिया था|